देहरादून (उत्तराखंड) के एक विद्यालय में ‘शुक्रवार’ को आधे दिन की छुट्टी देने का प्रयत्न अभिभावकों ने असफल किया !

ऐसे जागृत अभिभावक सर्वत्र चाहिए ! उत्तराखंड की भाजपा सरकार को ऐसे विद्यालय के व्यवस्थापन के विरोध में कार्रवाई करनी चाहिए !

रा.स्व. संघ के १३ स्वयंसेवकों की निर्दोष मुक्तता !

गत १४ वर्षों में निर्दोषों ने जो कुछ भी भोगा है, उसकी हानि भरपाई की जानी चाहिए । इस संबंध में केंद्र सरकार को अब कानून बनाना चाहिए !

१२ से १८ जून की अवधि में गोवा में होनेवाले दशम ‘अखिल भारतीय हिन्दू राष्ट्र अधिवेशन’ के उपलक्ष्य में …

इस्लामी अथवा ईसाई देशों की भांति हिन्दू राष्ट्र कोई संकीर्ण अवधारणा (संकल्पना) नहीं है, अपितु वह विश्वकल्याण का विचार करनेवाली, प्रत्येक नागरिक की लौकिक एवं पारलौकिक उन्नति का विचार करनेवाली एक सत्त्वप्रधान व्यवस्था है ।

‘हिन्दू राष्ट्र-जागृति अभियान’ में ७० सहस्र से भी अधिक हिन्दुओं का सहभाग ! – चेतन राजहंस, राष्ट्रीय प्रवक्ता, सनातन संस्था

हिन्दू राष्ट्र की स्थापना के लिए भारतभर में पुजारी, संत एवं मान्यवरों ने १ सहस्र ११९ मंदिरों में भगवान से प्रार्थना की गई, जबकि महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक एवं तेलंगाना राज्यों में २३ स्थानों पर ‘हिन्दू एकता शोभायात्रा’ आयोजित की गईं । इसका लाभ ३४ सहस्र ६४६ जिज्ञासुओं ने लिया ।

हलाल मांस का सेवन करने से हिन्दुओं की धर्मनिष्ठा और राष्ट्रभक्ति न्यून होगी ! – पू. डॉ. युधिष्ठिरलाल महाराजजी, शदाणी दरबार

हिन्दू जनजागृति समिति, अखिल भारतीय हिन्दू स्वाभिमान सेना और शदाणी सेवा मंडल, रायपुर के संयुक्त आयोजन में यहां के शदाणी दरबार तीर्थ में ‘हलाल प्रमाणपत्र – एक षड्यंत्र’ विषय पर एक विचारगोष्ठी का आयोजन किया गया था ।

इस्लामी देशों के भारतविरोध का सामना करने के लिए हिन्दू राष्ट्र आवश्यक ! – सद्गुरु (डॉ.) चारुदत्त पिंगळेजी, राष्ट्रीय मार्गदर्शक, हिन्दू जनजागृति समिति

पूरे देश के ५८ से अधिक हिन्दू संगठनों, संप्रदायों, विश्वविद्यालयों, अधिवक्ता संगठनों, पत्रकारों, उद्यमियों आदि ने पत्र के द्वारा इस अधिवेशन को अपना समर्थन दिया है ।

असम में हिन्दुओं को धर्मांतरित करने के लिए ईसाई मिशनरियों द्वारा पारंपरिक बिहू नृत्य एवं संगीत का उपयोग !

षड्यंत्रकारी ईसाई, जो अपने धर्मांतरण के लिए हिन्दू संस्कृति एवं परंपराओं का उपयोग करते हैं ! ऐसे लोगों को नियंत्रण में लाने के लिए, संपूर्ण भारत में कठोर धर्मांतरण विरोधी कानून लागू करना तथा ईसाई धर्म प्रचारकों के विरुद्ध कडी कार्रवाई करना आवश्यक है !

राष्ट्र एवं धर्म के विषय में लोगों को सतत जागृत करना चाहिए ! – स्वामी निर्गुणानंद महाराज, रिसडा प्रेम मंदिर आश्रम, बंगाल

धर्मकार्य करते हुए हमारे मन में सकारात्मकता और मुख पर प्रसन्नता रखनी चाहिए । अपने-अपने घरों के छोटे-छोटे कार्यक्रमों के माध्यम से भी लोगों को एकत्र करते रहना है । भले ही कोई भी निमित्त हो, राष्ट्र एवं धर्म के विषय में लोगों को सतत जागृत करना चाहिए ।

बंगाल में ‘हिन्दू सभा की ऑनलाइन’ बैठक में हिन्दू जनजागृति समिति का सहभाग

‘हिन्दू सभा’ इस हिन्दुत्वनिष्ठ संगठन की ‘ऑनलाईन’ बैठक में हिन्दु जनजागृति समिति के पूर्व एवं पूर्वोत्तर भारत राज्य समन्वयक श्री. शंभू गवारे ने सहभाग लिया । इस अवसर पर श्री. गवारे ने समिति के कार्य के विषय में सभी को अवगत करवाया ।

जोधपुर में हिंदुओं का धर्मांतर करनेवाले चर्च के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ

इसी के साथ राज्य के सभी विधायकों को राज्य की विधानसभा में धर्मांतर का सूत्र उपस्थित करने के लिए विहिंप की ओर से पत्र दिया जाएगा । अन्य राज्यों के समान राजस्थान में भी धर्मांतर के विरोध में कानून बनाने की मांग इन संगठनों ने की ।