बेंगलुरू के ५० वर्ष पुराने श्री चामुंडेश्वरी मंदिर को अवैध प्रमाणित कर, उसे गिराने का रेल अधिकारियों का प्रयास, संगठित हिन्दुओं ने विफल किया !

हिन्दू संगठित होने पर क्या हो सकता है, इसका और एक उदाहरण ! मुसलमान सदैव ही संगठित होकर विरोध करते हैं ; उसके कारण प्रशासन और पुलिस उनके अवैध धार्मिक स्थलों को गिराने का प्रयास करने का भी साहस नहीं दिखाते, इसे ध्यान में लीजिए !

‘रामायण एक्सप्रेस’ में परोसनेवालों (वेटरों) को दिया साधुओं का वेश परिवर्तित करेंगे ! – आइआरसीटीसी

साधुओं की हो रही अवमानना के विरोध में सतर्कता दिखानेवाले सनातन के साधक डॉ. अशोक शिंदे का अभिनंदन !

पंजाब में हिन्दू और सिक्खों के विरोध के कारण राज्य के मुख्यमंत्रक्ष ने ईसाई मिशनरियों की ‘चंगाई सभा’ में जाना टाल दिया !

चंगाई सभा के मुख्य आयोजक पादरी पर हत्या और बलात्कार का आरोप

भारतीय क्रिकेटरों को हलाल मांस देने के निर्णय का धर्म प्रेमियों ने ट्विटर पर किया विरोध !

इस पर ३० सहस्र से अधिक लोगों ने ट्वीट कर भारतीय खिलाडियों को हलाल मांस देने के निर्णय का विरोध किया । क्रिकेट मंडल द्वारा अभी तक कोई आधिकारिक स्पष्टीकरण नहीं प्राप्त हुआ है ।

बांग्लादेश में हिन्दुओं पर आक्रमणों के विरोध में इस्कॉन द्वारा १५० देशों में ७०० मंदिरों के पास आंदोलन !

इस्कॉन द्वारा विरोध प्रशंसनीय है, किन्तु कट्टरता को रोकने के लिए कठोर कदम उठाए जाने की आवश्यकता है। भारत सरकार को इसमें पहल करनी चाहिए , हिन्दू  की ऎसी अपेक्षा है !

कांकेर (छत्तीसगढ़) में सेंट जोसेफ स्कूल में हिन्दू छात्र को चोटी काटने के लिए कहने के कारण हिन्दुओं का विरोध

प्रशासन को ऐसे विद्यालयों से ईसाई मिशनरियों निरस्त कर विद्यालय अपने नियंत्रण में ले लेना चाहिए। ध्यान दें कि हिन्दू मंदिरों का सरकारीकरण करने की पहल करने वाले शासक इस बारे में चुप हैं !

‘सिएट टायर’ के विज्ञापन के माध्यम से अभिनेता आमिर खान का रास्तों पर पटाखे न चलाने का संदेश !

सामाजिक माध्यम पर आमिर खान की रास्तों पर नमाज पढने को लेकर आलोचना । रास्तों पर नमाज कैसे पढी जा सकती है ?, लोगों का यह प्रश्न है !

पूरे विश्व के हिन्दुओं द्वारा हिन्दू धर्म की उचित सैद्धांतिक भूमिका प्रस्तुत करने के कारण ‘डिसमेंटलिंग ग्लोबल हिन्दुत्व’ परिषद विफल हुई ! – सद्गुरु डॉ. पिंगळे, राष्ट्रीय मार्गदर्शक, हिन्दू जनजागृति समिति

‘डिसमेंटलिंग ग्लोबल हिन्दुत्व’ परिषद के आयोजक और वक्ता केवल हिन्दू धर्मविरोधी नहीं; अपितु नक्सलवादियों के समर्थक तथा भारतीय सैनिकों का विरोध करनेवाले देशद्रोही ही हैं । इस परिषद का पूरे विश्व के हिन्दुओं ने सोशल मीडिया सहित अन्य माध्यमों द्वारा प्रतिकार किया ।

विश्व के १३ देश, भारत के २३ राज्य और ४०० शहर एवं गांवों के हिन्दुओं का आंदोलन में सहभाग : २५० स्थानों से सरकार को निवेदन !

वैश्विक स्तर पर हिन्दूद्वेष फैलाने के इस व्यापक षड्यंत्र को देखते हुए, ‘डिस्मेंटलिंग ग्लोबल हिन्दुत्व’ कार्यक्रम का भारत सरकार विरोध करे, साथ ही कार्यक्रम में सहभागी भारतीय वक्ताओं पर कार्यवाही हो, इस मांग हेतु पूरे विश्व के हिन्दुओं ने आंदोलन किया ।

कागज की लुग्दी की मूर्तियों के संबंध में ‘राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण’ के प्रतिबंध के आदेश का उल्लंघन !

कागज की लुग्दी की मूर्ति बेचने वाले ‘अमेजॉन’, ‘फ्लिपकार्ट’, ‘इंडिया मार्ट’ इस वेबसाइट के विरोध में पुलिस में शिकायत
हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनों की ओर से कार्यवाही की मांग