हिन्दुओं की दयनीय स्थिति : कारणमीमांसा एवं समाधान योजना

हिन्दुओं की दुर्दशा का प्रमुख कारण यह है कि वे अनेक शताब्दियों से शुद्ध राष्ट्रवादी, दूरदर्शी, झुझारू एवं प्रभावी नेतृत्व के अभाव में संघर्ष कर रहे हैं । परिणामस्वरूप आज मुख्य प्रवाह राजकीय लोकतंत्र, व्यवस्था एवं झूठी धर्मनिरपेक्षता के बंधन में विवश होकर कुंठित हो गई है ।

पाक में बल पूर्वक किए धर्म परिवर्तन के मामले में ७० प्रतिशत संख्या हिन्दू अथवा ईसाई लडकियों की !

पडोसी इस्लामी देश पाकिस्तान और बांगलादेश में अल्पसंख्यक हिन्दुओं की समस्या हल करने के लिए भारत के आज तक की सभी पार्टियों की सरकार ने कुछ भी किया नहीं, यह लज्जास्पद !

मध्यप्रदेश में हिन्दुओं का धर्म परिवर्तन करने वाले ४ ईसाइयों को हिरासत !

हिन्दुओं, ईसाइयों के बहलावे की बलि न चढते हुए धर्म की शिक्षा लें और किसी भी परिस्थिति में आनंदमय और समाधानी जीवन जीने के लिए साधना करें ! इसी में आपके जीवन की सार्थकता है, यह ध्यान में लें !

बागलकोट (कर्नाटक) यहां हिन्दू विद्यार्थियों का धर्म परिवर्तन किए जाने की शिकायत के बाद सेंट पॉल विद्यालय प्रशासन की ओर से बंद

शिकायत के बाद तत्परता से ऐसा निर्णय लेने वाले कर्नाटक प्रशासन का अभिनंदन ! ऐसी तत्परता सभी ओर होनी चाहिए और उसमें भी किसी के द्वारा शिकायत करने की अपेक्षा प्रशासन को सतर्क रहकर ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए तुरंत कार्यवाही करनी चाहिए !

मदर टेरेसा द्वारा स्थापित संस्था मिशनरीज ऑफ चैरिटी के विरुद्ध जबरन धर्म परिवर्तन का प्रकरण प्रविष्ट किया गया है !

बाल सुधार-गृह की युवतियों का धर्म परिवर्तन करने का प्रयत्न करने का आरोप !
संगठन ने किया आरोपों का खंडन !

(कहते हैं) ‘भारत में रा.स्व. सेवक संघ की ब्राह्मणवादी विचारधारा अल्पसंख्यकों को दरकिनार करती है !’

पाकिस्तान ने उनके देश में अल्पसंख्यकों का विशेषत: हिन्दुओं का नरसंहार जो ७४ वर्षोंसे हो रहा हैं, उनकी रक्षा करने पर ध्यान देना चाहिए ! जिहादी आतंकवादी, जिहादी विचारधारा और प्रत्यक्ष कृति, यह वहां के अल्पसंख्यकों की जान ले रही है, इस संदर्भ में इमरान खान क्यों नहीं बोलते ?

पाकिस्तान से देहली आए हिन्दू शरणार्थियों का ईसाई मिशनरियों द्वारा किया जा रहा है धर्मांतरण !

भारत की राजधानी में ऐसा होना, हिन्दुओं के लिए लज्जाजनक है ! हिन्दू संगठनों को यह प्रयास वैधानिक रूप से रोकना आवश्यक है !

‘ईसाई धर्म स्वीकारने पर आपको एक पुत्र होगा’, ऐसा प्रलोभन देकर ईसाई मिशनरियों द्वारा हिन्दू परिवार का धर्मांतरण करने का प्रयास !

जो हिन्दुओं के साथ छल कर उनका धर्मांतरण करने वालों के विरुद्ध स्वयं कार्यवाही नहीं करते एवं जब उन्हें ग्रामीण पकडते हैं, तो वो उन्हें मुक्त कर देते हैं ; इससे क्या यह समझा जाए कि, यह पुलिस का हिन्दू -द्वेष एवं ईसाई प्रेम है ?

छत्तीसगढ में १ सहस्र २०० धर्मांतरितों ने पुनः हिन्दू धर्म में प्रवेश किया !

छत्तीसगढ राज्य के पत्थल गांव के खुंटापानी में, जशपुर राजपरिवार के सदस्य तथा भाजपा के प्रदेश मंत्री प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने ४०० परिवारों के १ सहस्र २०० लोगों के पैर धोकर उन्हें पुनः हिन्दू धर्म में प्रवेश दिया ।

श्रीराम सेना और हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनों ने बेलगांव में हिन्दुओं के धर्म परिवर्तन का प्रयास विफल किया !

इस घटना से देशभर में धर्मांतरण बंदी कानून लागू करने की और उसकी कठोर कार्यवाही करने की आवश्यकता स्पष्ट होती है !