परात्पर गुरु डॉ. आठवलेजी के ओजस्वी विचार

‘साधना कर सूक्ष्म स्तरीय ज्ञान होने पर यज्ञ का महत्त्व समझ में आता है । वह न समझने के कारण अति सयाने बुद्धिप्रमाणवादी बडबडाते फिरते हैं, ‘यज्ञ में वस्तुएं जलाने की अपेक्षा उन्हें गरीबों को दो ।’

मनु, चाणक्य और बृहस्पति द्वारा विकसित भारतीय न्याय व्यवस्था ही भारत के लिए योग्य !

उच्चतम न्यायालय के न्यायमूर्ति ने यह विचार व्यक्त किए होंगे, तो भी भारत के तथाकथित धर्मनिरपेक्षतावादी, ढोंगी आधुनिकतावादी यह स्वीकार नहीं करेंगे और इस विचार को ‘स्वयं को अधिक समझता है’ इस मनोदशा में विरोध करेंगे !

असम में गोतस्करों की संपत्ति जप्त करने का विधेयक पारित !

गोहत्या और गोतस्करी के संबंध में केंद्र सरकार ने कठोर कानून बनाया, तो देश के राज्यों को अलग-अलग कानून बनाने की आवश्यकता नहीं होगी ! केंद्र सरकार को ऐसा कानून शीघ्रातिशीघ्र बनाना चाहिए, ऐसा ही हिन्दुओं को लगता है !

हिन्दुओं की दयनीय स्थिति : कारणमीमांसा एवं समाधान योजना

हिन्दुओं की दुर्दशा का प्रमुख कारण यह है कि वे अनेक शताब्दियों से शुद्ध राष्ट्रवादी, दूरदर्शी, झुझारू एवं प्रभावी नेतृत्व के अभाव में संघर्ष कर रहे हैं । परिणामस्वरूप आज मुख्य प्रवाह राजकीय लोकतंत्र, व्यवस्था एवं झूठी धर्मनिरपेक्षता के बंधन में विवश होकर कुंठित हो गई है ।

जिहादी कार्यवाही रोकने के लिए फ्रांस में अभी तक २२ मस्जिदें बंद की गईं !

मस्जिद बंद करने के आधिकारिक कागजातों में कहा गया है कि ‘इमाम ने जिहाद को एक कर्तव्य’ कहा तथा जिहादियों को ‘इस्लाम के नायक’ के रूप में वर्णित किया । साथ ही, इमाम ने मुसलमानों के अतिरिक्त अन्य पंथियों को शत्रु घोषित कर दिया ।

हरिद्वार में हुई धर्म संसद में वक्ताओं के कथित आपत्तिजनक विधानों के कारण उच्चतम न्यायालय के ७६ अधिवक्ताओं का मुख्य न्यायाधीश का पत्र

हिन्दुओं पर होने वाले अत्याचारों के विषय में, साथ ही उनके ऊपर होनेवाले आक्रमणों के विषय में इस प्रकार का पत्र लिखने की सद्बुद्धि इन अधिवक्ताओं को कभी क्यों नही होती या कानून और सुव्यवस्था केवल अन्य धर्म के लोगों के लिए ही होती है , ऐसा उन्हें लगता है ?

हिन्दी चलचित्र ‘अतरंगी रे’ से ‘लव जिहाद’ को प्रोत्साहन ! 

हिन्दी चलचित्र ‘अतरंगी रे’ में ‘लव जिहाद’ को बढावा दिया जा रहा है । इसमें अभिनेता अक्षय कुमार ने ‘सज्जाद’ नामक मुसलमान युवक की और अभिनेत्री सारा अली खान ने ‘रिंकू’ नामक हिन्दू युवती की भूमिका की है ।

रजा अकादमी पर प्रतिबंध क्‍यों नहीं लगाया जाता ?

सनातन पर प्रतिबंध की आग्रहपूर्वक मांग करनेवालों का मुंहतोड खंडन करनेवाले विधायक मंगलप्रभात लोढा के प्रति सनातन के प्रवक्ता श्री. चेतन राजहंस ने व्यक्त किया आभार !

माघ स्नानारंभ

‘गंगाजी शिवतत्त्व का सगुण रूप है’, इस मनोभाव से नमस्कार करें तथा विष्णुस्मरण करें ।

हिमंत बिस्व सरमा की हिम्मत !

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा के अनुसार पुलिस को अधिकार मिले हैं कि वे संदिग्ध गोतस्करों में घर में प्रवेश कर खोज करने और गोतस्कर द्वारा पिछले ६ वर्षाें में अवैध पशु व्यापार से प्राप्त संपत्ति जप्त कर सकते हैं ।