जालोर (राजस्थान) में चोरी के उद्देश्य से मंदिर के वृद्ध पुजारी की हत्या

किसी भी पार्टी की सरकार हो, वह पुजारी, साधु, संतों की रक्षा करने में हमेशा ही असफल रही, ऐसा दिखाई देता है । यह स्थिति हिन्दू राष्ट्र को अपरिहार्य करती है !

राजस्थान में स्थानांतरण (तबादला) कराने के लिए, सरकारी शिक्षकों को देनी पडती है रिश्वत !

यह गहलोत सरकार की विफलता है, उन्हें यह स्वीकार करना होगा । उन्हें बताना होगा कि वे इस भ्रष्टाचार को रोकने के लिए क्या करने जा रहे हैं ! – संपादक

पाली (राजस्थान में) सैन्यशिविर की जानकारी पाकिस्तान को देनेवाला धर्मांध गिरफ्तार

ऐसे लोगों पर शीघ्रगति न्यायालय में अभियोग चलाकर उन्हें फांसी का ही दंड दिया जाना चाहिए !

आवश्यकता होने पर पुनः कृषि कानून बनाए जाएंगे ! – राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र

प्रधानमंत्री मोदी का यह निर्णय साहस एवं शौर्य दिखाता है ; परंतु, भविष्य में आवश्यकता होने पर पुनः एक बार कृषि कानून बनाए जाएंगे”, ऐसा वक्तव्य राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने किया है ।

राजस्थान में स्थानांतरण कराने के लिए, सरकारी शिक्षकों को देनी पडती है रिश्वत !

देश के अधिकांश राज्यों में सरकारी कर्मचारियों, अधिकारियों, पुलिस आदि को स्थानांतरण के लिए रिश्वत का भुगतान करना पडता है या वे इसके लिए स्वयं भुगतान करते हैं । किन्तु, कभी कोई इस संबंध में समीक्षा नहीं करता । वास्तविक स्थिति ऐसी है, मानो यह प्रशासन का अघोषित हिस्सा हो । हिन्दू राष्ट्र में किसी भी प्रकार का भ्रष्टाचार नहीं होगा !

किसान आंदोलन के कारण भारतीय सेना प्रभावित ! – मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक

सेना के २ जनरलों ने बताया, कि किसान आंदोलन भारतीय सेना को भी प्रभावित कर रहा है । अतः कुछ भी हो सकता है । “आज आप सत्ता में बैठे हैं और सत्ता के अहंकार में कुछ भी करते जा रहे हैं ; परंतु, इसके क्या परिणाम होंगे, यह आप नहीं जानते ।” मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने यहां आयोजित जाट सम्मेलन में यह वक्तव्य दिया ।

राजस्थान के पुलिस थाने में पूजाघर बनाने पर बंदी ! – काँग्रेस सरकार का पुलिस के माध्यम से हिन्दू विरोधी आदेश

काँग्रेस सरकार ने हिन्दुओं को लक्ष्य कर मुसलमानों को खुश करने के लिए ही यह आदेश दिया है, यह जगजाहिर है । धर्मनिरपेक्ष देश में प्रत्येक धर्म वालों को उनके धर्म पालन करने की धार्मिक स्वतंत्रता संविधान में दी है, उसका यह खुले तौर पर उल्लंघन है । इसका हिन्दुओं द्वारा और उनके संगठनों द्वारा प्रखर विरोध होना चाहिए !

‘हम जीते’ ऐसा ‘व्हॉट्सएप स्टेटस’ लगाकर पाक की जीत का समर्थन करने वाले धर्मांध शिक्षिका को नौकरी से निकाला

ऐसों को नौकरी से निकालकर छोडना नहीं चाहिए, तो उनके उपर देशद्रोह का गुनाह प्रविष्ट कर कठोर सजा होनी चाहिए !