वर्ष २०५० में बांगलादेश में हिन्दू नहीं बचेंगे ! – बांगलादेशी लेखिका की पुस्तक में दावा

यह स्थिति आने से पहले भारत में हिन्दू राष्ट्र की स्थापना करें, जिससे विश्वभर के हिन्दुओं की रक्षा की जा सकती है !

बांग्लादेश में हिन्दुओं पर हुए जिहादी आक्रमणों के विरुद्ध, बांग्लादेश तथा भारत के १५ राज्यों में आंदोलन !

हिन्दू जनजागृति समिति सहित ३७ हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनों का सहभाग !
१३७ स्थानों पर सरकार को निवेदन !

बांग्लादेश में हिन्दुओं पर आक्रमण करने के आरोप में ४५० कट्टरपंथी बंदी बनाए गए !

प्रधानमंत्री शेख हसीना को अभियुक्तों को कड़ा से कड़ा दंड दिलाने के लिए तत्काल प्रयास करना चाहिए, तभी इस कार्रवाई का कुछ अर्थ निकलेगा, साथ ही हिन्दुओं को जो हानि हुई है, उन्हें उसकी नुकसान भरपाई दी जाए ! 

केंद्र सरकार बांग्लादेश सरकार पर दबाव बढ़ाए ! – विश्व हिन्दू परिषद

बांग्लादेश में हिन्दुओं पर आक्रमण के प्रकरण !

‘दक्षिण आफ्रिका हिन्दू महासभा’ की ओर से बांग्लादेश में हिन्दुओं पर किए गए आक्रमण की निंदा !

इस निंदा के साथ ही, संपूर्ण विश्व में ऐसी घटनाएं न हों ; इसके लिए हिन्दुओं का प्रभावशाली संगठन खडा करना आवश्यक है । उसके लिए, संपूर्ण विश्व के हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनों को प्रधानता लेनी चाहिए !

बांग्लादेश का नया नाम जिहादीस्तान है और शेख हसीना इस जिहादीस्तान की रानी हैं !

क्या भारत का एक भी साहित्यकार, लेखक, खिलाडी आदि ; साथ ही, धर्मनिरपेक्षतावादी और आधुनिकतावादी, बांग्लादेश में हिन्दुओं पर किए गए आक्रमण की निंदा करता हुआ दिखाई दे रहा है ? उसकी तुलना में तस्लिमा नसरीन हिन्दुओं को अपनी लगती हैं !

बांगलादेश में पुन: हिन्दुओं पर आक्रमण : ४० लोग घायल

‘जहां हिन्दू संख्या में अल्प हैं, वहां वे मार खाते होंगे, तो जहां वे संख्या में अधिक हैं, वहां उनके कृति करने पर अल्पसंख्यक हिन्दुओं की रक्षा होगी’, ऐसी रणनीति स्वातंत्र्यवीर सावरकर ने रखी थी । हिन्दू  ऐसा करें, ऐसी बांग्लादेश सरकार की इच्छा है क्या ?

दुर्गापुर (बंगाल) में श्री दुर्गादेवी की मूर्ति का विसर्जन कर वापस लौट रहे भक्तों पर अज्ञातों की ओर से आक्रमण

बंगाल के हिन्दुओं ने हिन्दू विरोधी ममता (बानो) बनर्जी की तृणमूल काँग्रेस को चुनने के बाद उनके ऊपर संकटों के धारावाहिक चालू हुए हैं । वहां के हिन्दुओं को जब यह ध्यान में आएगा, वो अच्छा दिन होगा !

बांग्लादेश में १२ हिन्दुओं की हत्या, १७ लापता, २३ महिलाओं पर बलात्कार, १६० पूजा मंडल एवं मंदिर जलाए गए !

भारत में अल्पसंख्यकों के संबंध में ऐसी चूक भूलवश भी हो गई होती, तो भारत के धर्मनिरपेक्षतावादी, आधुनिकतावादी, धर्मान्ध, हिन्दुद्वेषी भारतीय एवं पश्चिमी प्रसार माध्यम, संपूर्ण संसार, इस्लामी देश एवं उनके संगठन हंगामा करते हुए भारत को ‘तालिबान’ ठहराकर कठोर कार्यवाही की मांग करते !

दक्षिण एशिया इस्लामी शासन के अधीन लाने के लिए काम चल रहा है ! – कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी

कश्मीर एवं बांग्लादेश में हिन्दुओं की हत्या के हो रहे प्रकरण !