नर-मादा शेर की जोडी का नाम ‘अकबर-सीता’ रखनेवाला वन विभाग का अधिकारी निलंबित !

त्रिपुरा राज्य शासन ने राज्य के प्रधान मुख्य वनसंरक्षक (वन्यजीव और निसर्ग पर्यटन) प्रबिन लाल अगरवाल को निलंबित किया है । चिडियाघर के नर और मादा शेर की जोडी का नाम ‘अकबर’ और ‘सीता’ रखने पर उसका विरोध होने के कारण यह निर्णय लिया गया ।

Lion Akbar Lioness Sita Row : ‘अकबर’ शेर को ‘सीता’ नाम की शेरनी के साथ रखने पर विश्व हिन्दू परिषद की याचिका !

आरोप है कि बंगाल राज्य सरकार के वन विभाग ने ये नाम रखे हैं !

भरतपुर (राजस्थान) में ५०० हिन्दुओं का होनेवाला धर्मांतरण विहिंप ने विफल किया !

विहिंप के कार्यकर्ताओं और धर्मांतरण के आयोजकों में मारामारी !

Kolhapur Madrasa Demolished : कोल्हापुर में अवैध मदरसों का निर्माणकार्य हटाना प्रारंभ !

हिन्दुत्ववादी संगठनों की आक्रामक भूमिका का परिणाम !

विहिप हनुमानजी के समान राममंदिर के लिए ४ दशक लडी; परंतु कभी श्रेय नहीं लिया ! – विनोद बंसल, राष्ट्रीय प्रवक्ता, विहिप

अयोध्या का नाम आते ही भगवान श्रीराम की जन्मभूमि और उसके लिए निरंतर संघर्ष करनेवाले एक संगठन का नाम अनायास ही मानस पटल पर उभर आता है । और वह है, विश्व हिन्दू परिषद ! आइए, राममंदिर निर्माण का इतिहास जानते हैं, इन्हीं से !

कारसेवा की अवधि में तत्कालीन बिहार राज्य में हिन्दुओं की रक्षा हेतु किया अतुलनीय कार्य !

रामजन्मभूमि आन्दोलन के संदर्भ में डॉ. नील माधव दासजी के अनुभव

रामजन्मभूमि आंदोलन में धर्मप्रेमी हिन्दुत्वनिष्ठों का अमूल्य योगदान !

उन दिनों में श्रीरामजन्मभूमि आंदोलन प्रतिदिन तीव्र बनता जा रहा था तथा उसका नेतृत्व विश्व हिन्दू परिषद ने (विहिप ने) किया था । रा.स्व. संघ इस आंदोलन का समर्थन करे, यह विहिप की अपेक्षा थी तथा संघ ने वैसा किया भी । जिस परिसर में विहिप का कार्य अल्प था अथवा नहीं था, वहां संघ ने दायित्व लिया ।

अमलनेर (जिला जलगांव) में, श्री गणेश को सांता क्लॉज के परिधान में दिखाया गया; आयोजकों के विरुद्ध पुलिस थाने में आरोप पंजीकृत किया गया !

‘सहज योग ध्यान केंद्र’ के नाम पर कहीं यह हिन्दुओं को ईसाई बनाने का गुप्त षड्यंत्र तो नहीं है ? हिन्दुओं को इसकी जांच करनी चाहिए । ऐसे आयोजन कर हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाले आयोजकों पर कडी कार्रवाई होनी चाहिए !

Ram Mandir VHP RSS : १ से १५ जनवरी तक की कालावधि में ६० करोड लोगों को श्रीराम का चित्र और अक्षताएं दी जाएगी !

विहिंप और रा.स्व. संघ का नियोजन !

देश के ५ लाख मंदिरों में एक ही समय पर होगा अयोध्या के श्रीराममंदिर के उद्घाटन समारोह का सीधा  प्रक्षेपण !

श्रीराम मंदिर के उद्घाटन समारोह में सीधा प्रक्षेपण देश के ५ लाख मंदिरों में एक ही समय पर किया जानेवाला है । इसमें प्रत्येक मंदिर का समावेश होगा ।