‘द कश्मीर फाइल्स’ के निमित्त…

बॉलीवुड में प्रतिवर्ष गुंडे, माफिया, ‘ड्रग्स पेडलर’, गंगूबाई जैसे वेश्यागृहों की मालकिन का उदात्तीकरण करनेवाले अनेक ‘ड्र्रामा फिल्म्स’ प्रदर्शित होती हैं । ऐसे चलचित्र देखने की अपेक्षा भारतीय ‘द कश्मीर फाइल्स’ देखना देशहितकारी सिद्ध होगा ।

इस्लामी टोलियोंद्वारा कश्मीरी हिन्दुओंका वंशविच्छेद ! – अमेरिका के र्‍होड आइलैंड संसद का दृढ मत

भारत का कांग्रेस दल कश्मीरी हिन्दुओंके वंशविच्छेद का सत्य छुपाती है, तो अमेरिका के एक राज्य की संसद कश्मीरी हिन्दुओं के पक्ष में दृढता से खडी रहती है । यह बात कांग्रेस के लिए लज्जाजनक !

हरियाणा सरकार कि ओर से भी ‘द कश्मीर फाईल्स’, यह चलचित्र कर मुक्त !

देश के मुसलमान बहुल भागों में ऐसी घटनाएं हो रही हों, तो पुलिस को शीघ्र कारवाई करके, उन्हें कारागार में बंद करना चाहिए !

काश्मिरी हिन्दुओं के नरसंहार की घोर यातना विश्‍व को समझना अत्यंत आवश्यक है !

आज इतने लंबे समय के उपरांत प्रसिद्ध दिग्दर्शक विवेक रंजन अग्निहोत्री ने द कश्मीर फाइल्स चलचित्र के माध्यम से अत्याचारियों को विश्‍व के पर्दे पर दिखाने का प्रशंसनीय प्रयत्न किया है ।ं

‘द कश्मीरी फाइल्स’ फिल्म की प्रसिद्धि करना कपिल शर्मा ने किया अस्वीकार !

कश्मीरी हिन्दुओं की भीषण वास्तविकता उजागर करनेवाले फिल्म की कोई भी प्रसिद्धि नहीं करेगा, इसे ध्यान में लेकर अब राष्ट्रप्रेमी भारतीयों को ही इसके लिए प्रधानता लेनी चाहिए !

कश्मिरी हिन्दुओं के वंशविच्छेदपर आधारित ‘काश्मिरी फाईल्स’ सिनेमा का विज्ञापन (ट्रेलर) प्रदर्शित

कश्मिर स्थित हिन्दुओं का वंशविच्छेद होने के ३० वर्ष पश्चात सिनेमा बनाया जाता है, यह बात हिन्दुओं हेतु लज्जास्पद !