पांचजन्य में इन्फोसिस विरोधी लेख से हमारा कोई लेना-देना नहीं है ! – रा.स्व. संघ

यद्यपि पांचजन्य में प्रकाशित लेख में लेखक के व्यक्तिगत मत हैं । ‘पांचजन्य’ संघ का मुखपत्र नहीं है । इससे पहले भी संघ ने स्पष्ट किया था, कि ‘पांचजन्य’ हमारा मुखपत्र नहीं है ।

(कहते हैं) ‘उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव पूर्व भाजपा और संघ किसी बडे़ हिन्दू नेता की हत्या कर सकते हैं !’

किसान आंदोलन को केंद्र सरकार ने महत्व ना देने से टिकैत अब निराश हो गए हैं । उनका धैर्य अब टूटने लगा है । इस कारण वे इस प्रकार का दावा करने लगे हैं, यही इससे ध्यान में आता है !

(कहते हैं) तालिबान एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ समान ही हैं !

कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष आर् ध्रुवनारायण का द्वेषपूर्ण वक्तव्य !

जब तक हम चीन पर निर्भर रहेंगे, तब तक हमें उसके सामने झुकना पडेगा ! – सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत

केंद्र की भाजपा सरकार को सरसंघचालक के वक्तव्य का गंभीरता से संज्ञान लेकर भारत को आत्मनिर्भर बनाने हेतु प्रयास करने चाहिएं, यही जनता को लगता है !

(कहते हैं) ’१४ अगस्त तक जिहादियों को न छोड़ने पर परिणाम भुगतने को तैयार रहें !’

लक्ष्मणपुरी (उत्तर प्रदेश) के मंदिरों को धर्मांधों की ओर से धमकी का पत्र

उत्तर प्रदेश में संघ स्वयंसेवक के लड़के का शव पेड़ पर लटका मिला !

उत्तर प्रदेश सरकार को इस मामले की जांच कर सत्य जनता के सामने लाना चाहिए !