रा.स्व.संघ के कार्यक्रम में केरल, कोजीकोड के महापौर (मेयर) सम्मिलित होने से काँग्रेस द्वारा आलोचना !

हिन्दूद्वेष से ग्रस्त काँग्रेस !

रा.स्व.संघ के पदाधिकारियों पर आक्रमण; सय्यद वसीम को बंदी !

हिन्दुबहुल भारत में हिन्दुओं के नेता असुरक्षित ! हिन्दुत्वनिष्ठों पर हो रहे आक्रमण रोकने के लिए हिन्दू राष्ट्र की स्थापना करना ही एकमात्र उपाय !

कन्नूर (केरल) में संघ स्वयंसेवक जिमनेश की माकपा के गुंडों द्वारा हत्या !

बंगाल, केरल जैसे राज्य हिन्दुओं के लिए अधिकाधिक असुरक्षित होते जा रहे हैं । इस स्थिति में अब हिन्दू राष्ट्र की स्थापना यही एकमात्र समाधान है, यह जान लें !

पाकव्याप्त कश्मीरियों को कब मिलेगी स्वतंत्रता ? – राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ

पाकव्याप्त जम्मू कश्मीर में लोग आतंकवाद एवं अलगाववाद की बलि चढ रहे हैं । उन्हें न्याय मिलना चाहिए । वे आज भारत की ओर आशाभरी दृष्टि से देख रहे हैं ।

रीवा (मध्यप्रदेश) में नूपुर शर्मा का समर्थन करने के कारण धर्मांध मुसलमान ने हिन्दू युवक को मारा

नूपुर शर्मा प्रकरण पर धर्मांधों ने अब धर्मयुद्ध घोषित कर हिन्दुओं को लक्ष्य करना चालू किया है, यह इस प्रकार की घटनाओं से प्रतिदिन ध्यान में आ रहा है । इन घटनाओं से स्वयं की रक्षा करने के लिए अब हिन्दुओं को स्वसंरक्षण प्रशिक्षण लेना अपरिहार्य है !

‘भारत में पकडे जाने वाले पाकिस्तान के सभी एजेन्ट हिन्दू होते हैं और उनका संबंध संघ से होता है !’

‘जगदानंद सिंह का पाक से क्या संबंध है, इसी की जांच करने की आवश्यकता है’, ऐसा किसी के कहने पर आश्चर्य न हो !

रा.स्व. संघ के १३ स्वयंसेवकों की निर्दोष मुक्तता !

गत १४ वर्षों में निर्दोषों ने जो कुछ भी भोगा है, उसकी हानि भरपाई की जानी चाहिए । इस संबंध में केंद्र सरकार को अब कानून बनाना चाहिए !

कन्नुर (केरल) के रा.स्व. संघ के कार्यालय पर अज्ञातों ने फेंका बम !

केरल में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी की गठबंधन सरकार होने से वहां हिन्दुओं एवं उनके संगठनों को लक्ष्य किया जाता है, इस विषय में निधर्मीवादी और आधुनिकतावादी कभी नहीं बोलेंगे, यह ध्यान में लें !

पलक्कड (केरल) में एक संघ स्वयंसेवक की हत्या के प्रकरण में पीएफआइ और एसडीपीआइ के ४ कार्यकर्ताओं को बंदी बनाया गया !

पॉप्युलर फ्रंट ओफ इंडिया पर कब प्रतिबंध लगेगा ?

भविष्य के १५ वर्ष में अखंड भारत दृश्यमान होगा ! – सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत

हम अहिंसा का सम्मान करते है, परन्तु हाथ में लाठी लेकर ही अहिंसा का सम्मान किया जाएगा ! – सरसंघचालक