बरेली के ईसाई पाठशाला में मेहंदी लगाकर आई साढे तीन वर्ष आयु की छात्रा को दिया दंड !

एलर्जी के नाम पर हिन्दुओं की परंपराआ का विरोध करने की ईसाई मिशनरी पाठशालाओं की यही पद्धति है, हिन्दू इतने भी मूर्ख नहीं कि यह उनकी समझ में न आए !

छत्तीसगढ में ईसाई मिशनरियों के विरोध में गांववालों का आंदोलन !

देश में धर्मांतरविरोधी कानून न होने से ईसाई मिशनरियों को खुली छूट मिलती है, यह देखते हुए जल्द से जल्द यह कानून बनाकर संबंधितों पर कठोर कार्यवाही होना आवश्यक !

विद्यालय में आते समय पगडी, कृपाण और कडा धारण कर न आएं !

ऐसे विद्यालयों का पंजीकरण रद्द कर सबंधितों को सिक्खों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में कारागृह में बंद कर देना चाहिए; इससे उन पर धाक रहेगी ।

पंजाब में सिक्खों का बढता धर्मपरिवर्तन !

अमृतसर एवं गुरदासपुर जिलों में ७०० चर्च ! राज्य के १२ सहस्र में से ८ सहस्र गावों में ईसाइयों की धार्मिक समितियां कार्यरत !

सियालकोट (पाकिस्तान) में २ मुसलमानों द्वारा ईसाई मजदूरों की हत्या !

मुसलमान बहुसंख्यक देश में अल्पसंख्यक हिन्दू, ईसाई आदि धर्मियों की निरंतर हत्या कैसे हो रही है ?, ‘भारत के अल्पसंख्यक समाज को संकट है’, ऐसा विवरण प्रकाशित करनेवाले अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठनों के ध्यान में यह प्रश्न क्यों नहीं आता ?

नई पीढी को इन्क्विजिशन (धर्म छल) द्वारा किए क्रूरतापूर्ण अत्याचारों की जानकारी देने हेतु जल्दी ही ‘गोवा फाइल्स २’ गोमंतकियों के समक्ष रखेंगे ! – प्रा. सुभाष वेलिंगकर, गोवा

भगवान परशुराम ही गोवा के रक्षक हैं; इसलिए कथित संत फ्रान्सिस जेवियर को ‘गोंयचो सायब’ (गोवा का साहब) कहना अनुचित है । गोवा में क्रूरतापूर्ण तंत्र इन्क्विजिशन लाने के लिए फ्रान्सिस जेवियर ही पूर्ण रूप से उत्तरदायी था ।

धर्म के आधार पर मुसलमान एवं ईसाईयों को निधि का वितरण करना, यह कौनसी धर्मनिरपेक्षता ? – एम. नागेश्वर राव, भूतपूर्व प्रभारी महासंचालक, सीबीआई

‘‘धर्म के आधार पर अल्पसंख्यकों पर इतनी बडी मात्रा में निधि व्यय करना, इसमें कौनसी धर्मनिरपेक्षता है ? संविधान यदि धर्मनिरपेक्ष है, तो सभी के साथ समान व्यवहार होना चाहिए’’, ऐसा प्रतिपादन सीबीआई के भूतपूर्व प्रभारी महासंचालक श्री. एम. नागेश्वर राव ने किया ।

आंध्र प्रदेश सरकार की ड्रोन वैमानिक प्रशिक्षण योजना के लिए केवल मुसलमान और ईसाई युवकों का चुनाव !

आंध्र प्रदेश की जगन मोहन रेड्डी सरकार द्वारा शुरू की गई ड्रोन वैमानिक प्रशिक्षण योजना के अंतर्गत केवल मुसलमान और ईसाई धर्म के लोगों को ही प्रशिक्षण दिया जा रहा है । इस पर भाजपा के राज्य-मुख्य सचिव विष्णु वर्धन रेड्डी ने आलोचना की है ।

राष्ट्रीय स्तर पर धर्मपरिवर्तन रोकने के लिए कानून सहित संविधान में सुधार की आवश्यकता ! – श्री. एम्. नागेश्वर राव, भूतपूर्व प्रभारी महासंचालक, केंद्रीय अपराध अन्वेषण यंत्रणा

आज देश में प्रत्येक वर्ष लाखों की संख्या में हिन्दुओं का धर्मपरिवर्तन कर, उन्हें ईसाई अथवा मुसलमान बनाया जा रहा है । अनेक राज्यों में भले ही धर्मपरिवर्तन विरोधी कानून हो, तब भी प्रतिदिन भारी मात्रा में हिन्दुओं का धर्मपरिवर्तन कर भारत को तोडने का षड्यंत्र हो रहा है ।

धर्मांतरण कराते समय ईसाई हिन्दुओं में राष्ट्रविरोधी भावना उत्पन्न करते हैं ! – श्रीमती एस्थर धनराज, सह निदेशिका, भगवद्गीता फाऊंडेशन फॉर वैदिक स्टडीज, भाग्यनगर, तेलंगाणा

ईसाई जब हिन्दुओं का धर्मांतरण करते हैं, तब वे उनमें राष्ट्रविरोधी भावना उत्पन्न करते हैं । उनकी यह नीति केवल भारततक सीमित नहीं है, अपितु ईसाई जिस देश में जाते हैं, वहां वे यही नीति अपनाते हैं ।