वर्ष २००२ में हुआ गुजरात दंगा, प्रधानमंत्री मोदी के विरुद्ध षड्यंत्र ! – गृहमंत्री अमित शाह

वर्ष २००२ में हुए गोधरा हत्याकांड पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने वक्तव्य दिया है । उन्होंने कहा कि गोधरा हत्याकांड के उपरांत गुजरात में भडके दंगों के संबंध में विरोधी पक्ष और प्रसार माध्यमों ने भाजपा के विरुद्ध झूठा प्रचार किया था ।

प्रयागराज (उत्तर प्रदेश) – यहां दंगाई मुसलमान के घर पर कार्रवाई करते समय १० सहस्र पुलिसकर्मियों की नियुक्ति !

नूपुर शर्मा के विरुद्ध शुक्रवार, १० जून को नमाज के पश्चात मुसलमानों ने दंगे किए थे । इस प्रकरण में पुलिस उन पर कार्रवाई कर रही है । १२ जून को प्रशासन ने इस हिंसा के प्रमुख सूत्रधार जावेद का अवैध घर ध्वस्त कर दिया । उस समय एक किलोमीटर के क्षेत्र में १० सहस्र पुलिसकर्मी नियुक्त किए गए थे ।

दंगा करनेवाले मुसलमानों पर योगी सरकार लगाएगी ‘गैंगस्टर एक्ट’ !

नूपुर शर्मा के विरोध में १० जून शुक्रवार की नमाज के उपरांत भारत के १४ राज्यों में ९० से अधिक स्थानों पर मुसलमानों ने एक ही समय पर मोर्चा निकाला । उत्तर प्रदेश के प्रयागराज, सहारनपुर और मुरादाबाद ,इन स्थानों पर पत्थर फेंके और आगजनी की घटनाएं हुई ।

स्वीडन में कुरान जलाने के कारण पिछले ४ दिनों से हिंसा जारी !

स्वीडन की जनसंख्या १ करोड है तथा इस में केवल ३ लाख मुसलमान हैं। तो भी देश के कई शहरों में हिंसा कर लोगों को नियंत्रण में करने की हिम्मत वह करते हैं, यह बात पूरे विश्व के लिए चिंताजनक है !

श्री रामनवमी के जुलूसों पर देश के ५ राज्यों में धर्मांध कट्टरपंथियों का आक्रमण !

हिन्दू राष्ट्र में हिन्दुओं के ही धार्मिक जुलूसों पर आक्रमण करने का साहस अनेक वर्षों से चला आ रहा है । इस स्थिति को बदलने के लिए, अब हिन्दुओं को युद्ध स्तर पर संवैधानिक मार्गों से सर्वंकष प्रयास करने चाहिए ।

(कहते हैं) ‘द कश्मीर फाईल्स’ चलचित्र के द्वारा गंगा – जमुनी संस्कृति को तोडने का काम हो रहा है !

इस देश में तथाकथित गंगा- जमुनी संस्कृति के नाम पर अभी तक हिन्दुओं पर अत्याचार करने का काम हुआ और आज भी हो रहा है । हिन्दुओं को धर्माधों की ऐसी फंसाने वाली बातें समझकर, उन्हें सत्य गंभीरता से समझाना चाहिए !

‘भारत में हिन्दू राष्ट्रवाद यह चिंता का विषय है !’

भारत में हिन्दू राष्ट्रवाद नहीं, अपितु ‘इस्लामी राष्ट्रवाद’ गत ७४ वर्षाें से चिंता का विषय बना है ! ‘इस्लामी राष्ट्रवाद’ के कारण ही कश्मीर में हिन्दुओं का वंशसंहार कर, उन्हें वहां से भगा दिया गया, इस विषय में अन्सारी क्यों मुंह नहीं खोलते ?

खूनी कांग्रेस को दंड दें !

प्रसिद्ध लेखक और इतिहासकार विक्रम संपत द्वारा प्रसिद्ध अंग्रेजी समाचार वाहिनी ‘टाइम्स नाऊ’ पर पत्रकार नाविका कुमार से की गई चर्चा में वीर सावरकर के विषय में, साथ ही गांधीहत्या के उपरांत महाराष्ट्र में किए गए ब्राह्मण विरोधी दंगो की जानकारी भी दी गई ।

देहली में हुए दंगे के समय मुसलमान महिलाओं को दिए गए निर्देश !

जनवरी एवं फरवरी २०२१ की अवधि में देहली नगर में ‘सीएए’ कानून के विरुद्ध मुसलमानों ने दंगा भडकाया । यह दंगा तो एक योजनाबद्ध षड्यंत्र था ।