कांग्रेस ने मध्य प्रदेश के भूतपूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को श्रीकृष्ण के रूप में, तथा वर्तमान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को कंस के रूप में दिखाया !

दूसरी घटना में, बिहार में राष्ट्रीय जनता दल के नेता लालू प्रसाद यादव को सुदर्शन चक्र धारण करने वाले भगवान श्रीकृष्ण के रूप में दर्शाया गया है । यह चित्र लालू प्रसाद यादव के पुत्र तेजप्रताप यादव ने फेसबुक पर प्रसारित किया है ।

(कहते हैं) ‘चूंकि मैं एवं मेरा परिवार कश्मीरी पंडित हैं, मैं मेरे बंधुओं की सहायता करूंगा !’ – राहुल गांधी

राहुल गांधी का यह वक्तव्य कश्मीरी हिन्दुओं के घावों पर नमक छिडकने जैसा है । यदि कांग्रेस एवं गांधी परिवार को वास्तविक रूप से कश्मीरी हिन्दुओं के लिए कुछ करना था, तो वे कब का कर चुके होते ।

राजस्थान के मुसलमान बहुल मालपुरा क्षेत्र से सैकडों हिन्दुओं का पलायन !

राजस्थान में, जहां कांग्रेस सत्ता में है, वहां हिन्दुओं की ऐसी स्थिति हो, तो उसमें आश्चर्य की क्या बात है ? इस प्रकरण में, केंद्र की भाजपा सरकार को सीधे हस्तक्षेप कर वहां के हिन्दुओं को आश्वस्त करना चाहिए, यही हिन्दुओं की अपेक्षा है !

(कहते हैं) ‘भारत में मुसलमान कभी भी बहुसंख्यक नहीं हो सकते !’ –  कांग्रेस के सांसद दिग्विजय सिंह 

देश के अनेक जिले और तहसील अब मुसलमान बाहुल्य हो गए हैं । वहां के हिन्दुओं पर धर्म परिवर्तन के लिए दबाव डाला जाता है, उनको वहां से पलायन करने के लिए विवश किया जाता है, इस विषय में दिग्विजय सिंह बोलेंगे क्या ?

‘ब्राह्मणों को अपने गांव में न आने दें’, ऐसा आवाहन करने वाले छत्तीसगढ़ के कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता को हिरासत !

ऐसे जाति द्वेष के कारण ही भारत में जात-पांत अभी भी समाप्त नहीं हो सका है । जात-पांत नष्ट करने के लिए इस प्रकार की कुत्सित बुद्धि की मानसिकता को प्रथम नष्ट करना आवश्यक !

सेना अधिकारियों के प्रशिक्षण में श्रीमद्भगवद्गीता और कौटिल्य अर्थशास्त्र सिखाने की सिफारिश !

कांग्रेस ने इस सिफारिश का विरोध किया है । कांग्रेस के प्रवक्ता के.के. मिश्रा ने कहा है कि, श्रीमद्भगवद्गीता और अर्थशास्त्र पढाना, ये सेना का राजनीतिकरण करने के समान है ।

(कहते हैं) “अमेरिका को अफगानिस्तान से खदेडने वाले तालिबान की सराहना की जानी चाहिए !” – झारखंड के कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी

आतंकवादियों और कट्टरपंथियों का महिमा मंडन करना कांग्रेसियों की ‘परंपरा’ है । यह कष्टप्रद है, कि ऐसे राजनीतिक दल ने सबसे दीर्घकाल तक भारत पर शासन किया !

आजीवन कारावास की सजा काट रहे कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को जमानत के लिए स्वास्थ्य रिपोर्ट प्रस्तुत करने का उच्चतम न्यायालय का आदेश

आजीवन कारावास की सजा काट रहे दोषी को जमानत किस लिए ? इसके विपरीत सहस्रों नागरिकों की हत्या करने वाले को तो फांसी की सजा होनी चाहिए थी !

(कहते हैं) तालिबान एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ समान ही हैं !

कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष आर् ध्रुवनारायण का द्वेषपूर्ण वक्तव्य !

(कहते हैं ) ‘कश्मीर एक अलग देश है तथा उसपर भारत एवं पाकिस्तान ने नियंत्रण प्राप्त किया है !’

खालिस्तान की भाषा बोलने वाले माली को देशद्रोह के अपराध में बंदी बनाकर कारागृह में ही डाल देना चाहिए ! केंद्र सरकार को ध्यान देना चाहिए, कि ऐसे देशद्रोहियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही न होने के कारण अन्यों को भी वैसा करने की स्वतंत्रता मिल रही है !