झारखंड में कट्टरपंथियों द्वारा हिन्दू युवक की हत्या !

खूंटी जिले में कट्टरपंथियों ने मामूली कारण पर ४५ वर्षीय पंकज चौधरी की हत्या कर दी । गंभीर रूप से घायल चौधरी को पहले तोपरा चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था ।

श्राद्ध करने का शास्त्र समझकर कृति करने से हमें अधिक लाभ होता है ! – श्री. शंभू गवारे, हिन्दू जनजागृति समिति

हिन्दू धर्म में ‘पितृऋण’ से मुक्त होने के लिए श्राद्धविधि करने का विशेष महत्त्व बताया गया है; परंतु समाज को श्राद्ध करने का महत्त्व और उस विषय के धर्मशास्त्र का ज्ञान न होने से श्राद्ध के विषय में अनेक भ्रांतियां फैली हुई हैं ।

झारखंड में मुसलमान छात्रों को नमाज पढने के लिए, बिराजपुर विद्यालय को अवकाश !

झारखंड भारत में है या पाकिस्तान में ? नमाज पढने के लिए, विद्यालय को अवकाश देने वाले पाठशाला के प्रबंधन के विरुद्ध कठोर कार्यवाही होनी चाहिए !

‘मंगलम् कपूर’ के विज्ञापन में प्रभु श्रीरामका अपमान !

हिन्दुओं में धर्माभिमान न होने के कारण इस प्रकार विविध माध्यमों से हिन्दुओं के देवताओं का अपमान किया जाता है ! – संपादक

जमशेदपुर (झारखंड) में, भूतबाधा होने के संदेह में मौलवी द्वारा बंधक युवती की विहिप द्वारा मुक्ति !

विश्व हिन्दू परिषद ने १९ सितंबर २०२१ को यहां के इमामवाडा से एक हिन्दू युवती को मुक्त किया, जिसे लोहे की जंजीर से बांध कर रखा गया था ।

झारखंड में धर्मांतरित व्यक्ति के शव का, शमशान भूमि में शवाधान करने का ग्रामीणों ने किया विरोध !

पश्चिम सिंहभूम के दुरूला गांव में, धर्मांतरित आदिवासी परिवार के एक व्यक्ति की मृत्यु  हो गई । आदिवासी समुदाय ने तब शव को उनके ससन दिरी शमशान भूमि में दफनाने का विरोध किया । पुलिस के हस्तक्षेप के उपरांत, अंतत: शव को परिवार के घर के आंगन में दफनाने का निर्णय लेना पडा ।

(कहते हैं) “अमेरिका को अफगानिस्तान से खदेडने वाले तालिबान की सराहना की जानी चाहिए !” – झारखंड के कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी

आतंकवादियों और कट्टरपंथियों का महिमा मंडन करना कांग्रेसियों की ‘परंपरा’ है । यह कष्टप्रद है, कि ऐसे राजनीतिक दल ने सबसे दीर्घकाल तक भारत पर शासन किया !

झारखंड मुक्ति मोर्चा सरकार ने झारखंड विधानसभा में मुसलमानों को नमाज अदा करने के लिए अलग कक्ष प्रदान किया !

धर्मनिरपेक्ष देश की विधानसभा में धार्मिक गतिविधियों के लिए जगह देना संविधान की अवमानना है ।

हिन्दू राष्ट्र-स्थापना हेतु साधना के रूप में सहभागी होने की आवश्यकता है ! – श्री. शंभू गवारे, पूर्व एवं पूर्वोत्तर भारत राज्य संगठक, हिन्दू जनजागृति समिति

तरुण हिन्दू के संस्थापक श्री. एन.एम. दास जी ने उपस्थित लोगों को समिति का परिचय करवाते समय कहा, ‘हमारा और समिति की स्थापना का एक ही उद्देश्य है और वह है हिन्दू राष्ट्र की स्थापना !’