तमिलनाडु में एक प्राचीन मंदिर की भीत पर क्रॉस रंगे गए !

क्या अन्य धर्मियों के धार्मिक स्थलों पर ॐ लिखने की हिम्मत कर सकते है ?

सरकारी प्रतिष्ठानों का निजीकरण; मात्र मंदिरों का अधिग्रहण, ऐसा क्यों ? – सद्गुरु जग्गी वासुदेव

– सरकार मंदिरों का सरकारी अधिग्रहण रोके !

एनसीईआरटी की पुस्तक में ‘कुतुब मीनार’ कुतुबुद्दीन ऐबक ने बनाया ऐसा उल्लेख; मात्र उसके पास सबूत नहीं !

– सत्य इतिहास सिखाने के लिए हिन्दू राष्ट्र चाहिए !