केरल के कोचीन देवस्वम मंडल द्वारा संचालित एक महाविद्यालय में, माकप के छात्र संगठन ‘स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया’ द्वारा अश्लील फलकों (होर्डिंग) की प्रदर्शनी !

मंदिरों के सरकारीकरण के पश्चात, मंदिर प्रबंधन मंडलों द्वारा चलाए जा रहे महाविद्यालयों पर भी उसका ऐसा परिणाम दिखाई दे रहा है ; यह ध्यान में लेते हुए सरकारीकरण का विरोध करें ।

त्रिपुरा में भाजपा एवं माकपा के छात्र संगठनों के मध्य हिंसा !

वामपंथियों का अतीत और वर्तमान हिंसा से ही भरा हुआ है, यही इस घटना से पुनः स्पष्ट होता है !

राष्ट्रीय ध्वज उल्टा फहराने के कारण केरल में भाजपा नेता के विरोध में प्रकरण प्रविष्ट !

सीपीआई (एम) कार्यालय में पार्टी के झंडे के समान स्तर पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने से ध्वज संहिता का उल्लंघन !

स्वतंत्रता के ७४ वर्षों के पश्चात प्रथम ही बार माकपा के मुख्यालय में स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा !

विगत ७४ वर्षों में राष्ट्रीय ध्वज क्यों नहीं फहराया, इसका कारण जनता को बता कर माकपा ने देशवासियों से क्षमायाचना करनी चाहिए !

चीन ने वर्ष २००७-०८ में भारत और अमेरिका की परमाणु संधि रोकने के लिए भारत के कम्युनिस्ट नेताओं को संपर्क किया था !

साथ ही भारत के इन नेताओें के माध्यम से चीन ने देश में विरोधी पार्टी निर्माण करने का प्रयास किया था, ऐसा दावा भारत के सेवा निवृत्त विदेश सचिव विजय गोखले ने किया है ।