शाओमी, ओप्पो और विवो इन चीनी मोबाइल कंपनियों की ओर से भारत में १ लाख करोड रुपयों की कमाई; लेकिन एक भी रुपए का कर नहीं भरा !

चीनी कंपनियां द्वारा कर चोरी करते समय सरकारी तंत्र सो रहा था क्या ? उन्होंने उसी समय इन कंपनियों से इस विषय में जवाब क्यों नहीं मांगा ?

चीनी सेना ने भारतीय नियंत्रण की गलवान घाटी में अपना राष्ट्रध्वज नहीं फहराया ! – भारतीय सेना का स्पष्टीकरण

भारतीय सेना ने इस पर स्पष्टीकरण देते हुए ‘चीन के सैनिकों के उनका राष्ट्रध्वज फहराने की जगह चीन के अधिकार वाली गलवान घाटी के हिस्से में है ।

चीन ने अरुणाचल प्रदेश में १५ स्थानों के नाम बदले !

भारत के राज्यों में स्थानीय नाम बदलने का साहस चीन करता ही कैसे है ? क्या चीन भारत से नहीं डरता ? भारत सरकार को अब चीन के स्थानों के नाम बदलकर उसे जैसे को तैसा उत्तर देना चाहिए !

चीन के प्रत्येक नागरिक पर ६ लाख ८० हजार ६९६ रुपए का ऋण !

वर्तमान में  बांग्लादेश के प्रत्येक नागरिक पर २० सहस्र रुपए का ऋण है । चीन एवं पाकिस्तान की तुलना में यह बहुत अल्प है । भारत में, प्रति व्यक्ति पर विदेशी कर्ज ३२ सहस्र रुपए है ।

‘इस्रो’ का ‘ओप्पो’ इस चीनी कंपनी के साथ करार !

वर्तमान में भारत का पहले क्रमांक पर स्थित शत्रु देश की कंपनी से ‘इस्रो’ जैसी महत्वपूर्ण संस्था ने करार करना, यह भारतीयों को अपेक्षित नहीं । इस विषय में भारत सरकार को जनता को जानकारी देनी चाहिए !

(कहते हैं) ‘भारतीय सैनिकों के हाथ खून से रंग रहे हैं !’

भारत के सुरक्षा विशेषज्ञ द्वारा किए दावे के बाद चीन को मिरची लगने से उसकी ओर से हल्ला (थयथायट) किया जा रहा है, यही इससे स्पष्ट होता है !

(कहते हैं) ‘हेलीकॉप्टर अपघात के लिए भारतीय सेना की लापरवाही उत्तरदायी !’

चीन इस बात को ध्यान रखे, कि इस प्रकार के मिथ्या आरोप लगाकर, भारतीय सेना और भारतीय नागरिकों का मनोबल गिराने के उसके प्रयास कभी सफल नहीं होंगे !