धर्मांध इतने भयानक हैं कि, भारत के हिन्दू भी उनसे सुरक्षित नहीं ! – तस्लिमा नसरीन

‘जिहादियों द्वारा केवल गैरमुसलमानों का ही नहीं, तो प्रगतिशील मुसलमान और स्वतंत्र विचार रखनेवालों का भी सिर काटा जाता है । धार्मिक कट्टरपंथी सदा से ही मानवता के लिए हानिकारक हैं ।

इस्लामी जिहाद के विरोध में निरंतर संघर्ष करना होगा ! – प.पू. यती चेतनानंद सरस्वती, महंत, डासना पीठ, गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश

‘‘मुगलों से लेकर आज तक इस्लामी जिहाद के विरोध में निरंतर युद्ध जारी ही है । हिन्दुओं की हत्या, हिन्दू महिलाओं पर अत्याचार, बलात्कार करना, संपत्ति लूटना, धर्मपरिवर्तन करना, ‘लैंड जिहाद’, ‘लव जिहाद’इत्यादि; यही इस्लामी जिहाद की नीतियां हैं ।

‘हिन्दू राष्ट्र के लिए कार्य करनेवाले को ही मतदान करूंगा’, ऐसे लोकप्रतिनिधियों को दृढता से बताएं ! – राजीव शाह, अध्यक्ष, सायबर सिपाही (दक्षिण राज्य) भाग्यनगर, तेलंगाणा

देश में आतंकवाद, भ्रष्टाचार, लूटपाट आदि के बढते हुए भी पुलिस उसे छोडकर हिन्दू संगठनों की गतिविधियों की कडी निगरानी कर रही है । यह हिन्दुओं का दुर्भाग्य है । भोपाल में हिन्दू देवी-देवताओं के विषय में झूठा प्रसार कर हिन्दुओं का धर्मपरिवर्तन किया जा रहा है ।

३२ वर्षाें उपरांत भी हत्यासत्र एवं विस्थापन जारी; कश्मीरी हिन्दुओं को न्याय कब मिलेगा ? – श्री. राहुल कौल, राष्ट्रीय अध्यक्ष, यूथ फॉर पनून कश्मीर

जिहादी आतंकवाद के कारण अपने ही देश में विस्थापित हुए ३२ वर्ष बीत गए, तब भी आज तक कश्मीरी हिन्दुओं को लक्ष्य बनाकर उनका भीषण हत्यासत्र जारी ही है । हिन्दुओं की चुन-चुनकर हत्या की जा रही है । गत कुछ महिनों में कश्मीर में १० हिन्दुओं की हत्याएं हुईं हैं ।