जालोर (राजस्थान) में भगवा ध्वज फाड कर ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ की घोषणा करनेवाले तीन धर्मांधों को बंदी बनाया गया ।

कांग्रेस के राज्य में धर्मांधों का बढता देशद्रोह ! कांग्रेस की सरकार अर्थात पाकिस्तानी शासन !

खंडवा (मध्य प्रदेश) में मोहरम के जुलूस में पुलिस की उपस्थिति में ‘सर तन से जुदा’ की घोषणा !

गांव-गांव में ऐसी घोषणाएं दी जाना, यह स्थिति दर्शाती है कि ‘आनेवाला समय हिन्दुओं के लिए कठिन है’ !

चुनावों में बिनामूल्य बस्तु देने का आश्वासन देना यह गंभीर बात ! – उच्चतम न्यायालय

चुनाव आयोग को अब ऐसे आश्वासन देने पर प्रतिबंध लगाना चाहिए !

जाली कागजपत्रों द्वारा ४०० करोड की भूमि पर कब्जा किया !

इतनी बडी मात्रा में घोटाला होने तक प्रशासनिक अधिकारी, स्थानीय जनप्रतिनिधि और पुलिस सो रही थी क्या ?

‘भजन गाना शरीयत के विरुद्ध !’

‘यू-ट्यूब’ की गायिका फरमानी नाज ने कावड यात्रा के लिए भगवान शिव का ‘हर हर शंभू’ यह भजन गाने से देवबंद के उलेमा ने आलोचना करते हुए कहा कि यह शरीयत के विरुद्ध है ।

ज्ञानवापी परिवाद में मुसलमानों के पक्ष में लडनेवाले अधिवक्ता अभयनाथ यादव की मृत्यु

ज्ञानवापी घटना में राखी सिंह की याचिका पर दिवानी न्यायालय में चल रही सुनवाई में अधिवक्ता अभयनाथ यादव मुसलमानों का पक्ष प्रस्तुत कर रहे थे । आयोग का कृति ब्यौरा स्पष्ट होने के पश्चात उन्होंने आपत्ति व्यक्त की थी ।

ईश्वर ने हमें स्वतंत्रता की ७५वीं वर्षगांठ का साक्षी होने का सौभाग्य दिया है ! – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

भारत की स्वतंत्रता को ७५ वर्ष पूर्ण होनेवाले हैं । हम सभी इस अद्भुत और ऐतिहासिक क्षण के साक्षी होने जा रहे हैं । भगवान ने हमें बहुत बड़ा भाग्य दिया है । यदि  हम नें दासत्व के समय जन्म लिया होता तो यह दिन हमारे लिए कैसा होता इसकी कल्पना करना भी कठिन है ।

अल्पवयीन बालिकाओं की तस्करी करने के प्रकरण में केरल का पादरी बंदी (गिरफ्तार)

ध्यान रखिए कि ऐसे वृत्त तथाकथित धर्मनिरपेक्ष प्रसारमाध्यम प्रकाशित नहीं करते !

संभल (उत्तर प्रदेश) में मदरसे के मौलवी द्वारा ६ साल की बच्ची पर बलात्कार।

सरकार को ऐसे वासनांधाओं पर कार्रवाई करने के साथ इस प्रकार चलनेवाले मदरसों पर बंदी लगानी चाहिए !

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर किया ट्वीट निकाल दें ! – दिल्ली उच्च न्यायालय का कांग्रेस के नेताओं को आदेश

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और उनकी लडकी पर गोवा के एक रेस्टोरेंट के प्रकरण में किए गए आरोप पर दिल्ली उच्च न्यायालय ने कांग्रेस के नेताओं को फटकारते हुए इस संबंध में किया गया ट्वीट २४ घंटे में निकालने का आदेश दिया है ।