आतंकवादियों की अंतिम यात्रा में सहभागी होना राष्ट्र विरोधी नहीं ! – जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय

‘आतंकवादियों का महिमामंडन होना, यह कभी भी अस्वीकार होकर इस माध्यम से जिहादी आतंकवाद और उसका समर्थन करने वालों को एक प्रकार से प्रोत्साहन तो नहीं मिल रहा ?’, यह देखना आवश्यक है ।

काशी की रजिया मस्जिद पहले का काशी विश्वनाथ मंदिर होने के कारण वहां मंदिर का पुननिर्माण किया जाए !

काशी राजपरिवार की कन्या की ओर से याचिका !

विशिष्ट धर्मियों को प्रसन्न करने के लिए मेरे पति को बनाया बंदी !

टी. राजा सिंह को मुहम्मद पैगंबर का कथित अपमान करने के कारण ‘प्रिवेंटिव डिटेंशन एक्ट’ के अंतर्गत बंदी बनाया गया है ।

भक्त को ५० लाख रुपए हानिभरपाई देने का तिरुपती देवस्थान को ग्राहक न्यायालय का आदेश !

 मंदिरों का सरकारीकरण होने पर ऐसा ही होगा !

बदायूं (उत्तर प्रदेश) की जामा मस्जिद पहले का नीलकंठ महादेव मंदिर !-दीवानी न्यायालय में साक्ष्य (सबूत) के साथ याचिका प्रविष्ट

यहां की जामा मस्जिद पूर्व का नीलकंठ महादेव मंदिर होने के संदर्भ में यहां के दीवानी न्यायालय में याचिका प्रविष्ट की गई है । कुल ५ पक्षकारों ने मिलकर यह याचिका प्रविष्ट की है ।

मुसलमानों के संबंध में कथित रूप से आपत्तिजनक वक्तव्य देने के कारण जितेंद्र त्यागी का न्यायालय में आत्मसमर्पण !

शिया सेंट्रल बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष जितेंद्र त्यागी (पूर्वाश्रम में वसीम रिजवी) ने १७ से १९ दिसंबर २०२१ की अवधि में हरिद्वार में आयोजित धर्म संसद में मुसलमानों के विरुद्ध कथित आपत्तिजनक वक्तव्य देने के कारण न्यायालय में आत्मसमर्पण किया ।

१-२ दिन बिना मांस खाए आप नहीं रह सकते क्या ?

जब भी पशुवधगृहों पर प्रतिबंध लगाया जाता है, तब आप हमारे पास चले आते हैं । आप १-२ दिन मांस खाने से स्वयं को रोक नहीं सकते क्या ?, ऐसे शब्दों में गुजरात उच्च न्यायालय ने मुसलमानों को फटकार लगाई है ।

श्री गणेशोत्सव हुबली (कर्नाटक) के ईदगाह मैदान में प्रारंभ हुआ !

३१ अगस्त को श्री गणेशोत्सव के पावन अवसर पर कर्नाटक उच्च न्यायालय के आदेश के उपरांत यहां ईदगाह मैदान पर श्री गणेश मूर्ति की स्थापना की गई।

कोयंबतूर (तमिलनाडू) यहां मुसलमान बहुसंख्यक क्षेत्र में मुसलमान संगठन की अनुमति से गणेशोत्सव मनाएं !

‘कोयंबतूर भारत में है अथवा पाकिस्तान में ?’, किसी के भी मन में ऐसा प्रश्न उपस्थित हो सकता है !

ज्ञानवापी समान मथुरा श्रीकृष्णजन्मभूमि का सर्वेक्षण करने का इलाहाबाद उच्च न्यायालय का आदेश

अगले ४ माह तक यह चित्रीकरण पूर्णकर सर्वेक्षण का ब्योरा न्यायालय में प्रस्तुत करने का आदेश दिया गया है । इसके लिए न्यायालय आयुक्त पद पर एक वरिष्ठ अधिवक्ता की तथा सहायक आयुक्त पद पर २ अधिवक्ताओं की नियुक्ति की जाएगी ।