कोप्पल (कर्नाटक) में मुसलमान युवक द्वारा हिन्दू युवती से विवाह करने के कारण हुई हिंसा में २ लोगों की मृत्यु

कर्नाटक में भाजपा की सरकार रहते हुए ऐसी घटनाएं नहीं होनी चाहिए, हिन्दुओं को ऐसा ही प्रतीत होता है ! कर्नाटक में ‘लव जिहाद’ विरुद्ध कानून सम्मत किया गया है, तब भी धर्मांधों को कानून का भय न रहने से ऐसी घटनाएं हो रही हैं । यह ध्यान में लेते हुए इस कानून में अब और कठोर दंड देने का प्रावधान आवश्यक है !

मुसलमान संगठनों के विरोध के पश्चात मंगलुरू विश्वविद्यालय में भारतमाता का पूजन निरस्त !

हिजाब धार्मिक, जबकि भारतमाता राष्ट्रीय अस्मिता का विषय है । यदि कोई उनकी पूजा करता हो, तो इसमें अनुचित क्या है ? जो व्यक्ति भारतमाता को ही न मानता हो, वही इस प्रकार का विरोध करते हैं ! विश्वविद्यालय इस प्रकार के विरोध की बलि न चढें !

रा.स्व.संघ के पदाधिकारियों पर आक्रमण; सय्यद वसीम को बंदी !

हिन्दुबहुल भारत में हिन्दुओं के नेता असुरक्षित ! हिन्दुत्वनिष्ठों पर हो रहे आक्रमण रोकने के लिए हिन्दू राष्ट्र की स्थापना करना ही एकमात्र उपाय !

कर्नाटक में अनुचित व्यक्ति को बंदी बनाने के कारण उच्च न्यायालय ने दिया उसे ५ लाख रुपए क्षतिपूर्ति देने का आदेश

यह रकम संबंधित पुलिस अधिकारियों से ही प्राप्त करनी चाहिए ! देश में इस प्रकार घटनेवाली साथ ही बंदी बनाने के पश्चात व्यक्ति यदि निरपराध मुक्त हुआ, तो उसे हानिपूर्ति देने का अधिनियम करना भी आवश्यक है !

राहुल गांधी ने ली लिंगायत समुदाय की दीक्षा !

चुनाव आने पर राहुल गांधी को निश्चितरूप से धार्मिकता का स्मरण होता है, यह इससे पूर्व भी अनेक बार सामने आया है ! इसलिए जनता को भी कांग्रेस का सत्य स्वरूप ज्ञात होने से कांग्रेस धार्मिकता का कितना भी प्रदर्शन करे, तब भी जनता कांग्रेस को नहीं चुनेगी, यह भी उतना ही सत्य है !

कर्नाटक के प्रवीण नेट्टारू की हत्या प्रकरण में और दो लोगों को बंदी बनाया !

बंदी बनाए गए शफिक के पिता इब्राहिम ने कहा, ‘‘ मेरे बेटे को क्यों बंदी बनाया गया है ?, यह मुझे नहीं पता । हम मुसलमान हैं; इसलिए हमें लक्ष्य किया जा रहा है ।’’

मंगलुरू (कर्नाटक) में अज्ञातों द्वारा मुसलमान युवक की हत्त्या !

सुरतकल भाग में ४-५ अज्ञात हमलावरों ने २८ जुलाई को रात्रि लगभग ८ बजे महंमद फाजील की अमानुषिक पिटाई की एवं चाकू से वार कर हत्या कर दी ।

प्रवीण नेट्टारु की हत्या का प्रकरण ‘एन.आइ.ए.’ को सौंपा जाएगा !

राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी एवं मंत्रियों के साथ हुई उच्चस्तरीय बैठक के पश्चात मुख्यमंत्री बोम्माई ने २९ जुलाई को सायंकाल प्रसारमाध्यमों को जानकारी देते हुए कहा कि प्रवीण नेट्टारु की हत्या का प्रकरण राष्ट्रीय अन्वेषण (एन.आइ.ए.) तंत्र को सौंपने का निर्णय लिया गया है ।

‘मुसलमान होने के कारण पुलिस हमें फंसा रही है !’

ऐसे विधानों के कारण भारत विरोधी शक्तियों को ‘भारत मुसलमान विरोधी है’, ऐसा कहने का अवसर हम ही देते हैं । इसलिए अब शरीफ के पिता पर भी कार्यवाही होनी चाहिए !

पुलिस ने दक्षिण भारत में ३ मठों पर आतंकवादी आक्रमण को किया विफल !

‘आतंकवाद का न कोई धर्म है और न ही रंग’, ऐसा शोर मचानेवाले जिहादियों के समर्थकों को अब क्या कहना है ?