श्रीकृष्ण जन्मभूमी विषयक याचिका प्रविष्ट करने के कारण आगरा में जामा मस्जिद के अध्यक्ष ने दी अधिवक्ताओं को जान से मारने की धमकी !

क्या नूपुर शर्मा के विरुद्ध प्रदर्शन करनेवाले मुसलमान इस धमकी के विरोध में कुछ बोलेंगे ? हिन्दुओं की अपेक्षा है कि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ऐसे लोगों को कारागृह में डालने के लिए तत्काल कार्रवाई करेगी !

श्रीकृष्ण जन्मभूमि के ऊपर बनी शाही मस्जिद पर लगे भौंपू बंद करो ! – दीवानी न्यायालय में याचिका

यह मस्जिद केशवदेव मंदिर का गर्भगृह है और यहां सुबह साढे चार बजे भौंपू से दी जानेवाली अजान पर बंदी डाली जाए, तथा इस भाग का सर्वेक्षण किया जाए ।

श्रीकृष्ण जन्मभूमि हिन्दुओं की होने का दावा करनेवाली याचिका न्यायालय ने स्वीकार की !

मथुरा (उत्तर प्रदेश) – यहां श्रीकृष्ण जन्मभूमि मंदिर के प्रकरण में प्रविष्ट की गई याचिका यहां के जिला न्यायालय ने स्वीकार की है ।

न्यायालय ने मथुरा के शाही ईदगाह मस्जिद के सर्वेक्षण से संबंधित मांग की याचिका स्वीकार कर ली है !

वाराणसी, यहां के न्यायालय में ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वेक्षण के उपरांत मथुरा की श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर शाही ईदगाह मस्जिद का भी सर्वेक्षण एवं चित्रीकरण की मांग से संबंधित याचिका प्रविष्ट की गई थी, जिसे न्यायालय ने स्वीकार कर ली है ।

अयोध्या, काशी और मथुरा के मंदिरों की मुक्ति के लिए लडी गई न्यायालयीन लडाई !

राम मंदिर के संदर्भ में ‘प्लेसेस ऑफ वरशिप एक्ट’ के सेक्शन ४ को छूट दी गई थी । आज की तारीख में आर्टिकल २५४ (२) के अंतर्गत राज्य सरकार को उसमें सुधार कर उसे काशी और मथुरा से जोडा जाए और उसके उपरांत राष्ट्रपति उस पर हस्ताक्षर करेंगे ।

अयोध्या, काशी एवं मथुरा में मंदिरों की मुक्ति के लिए हो रही न्यायालयीन लडाई !

सर्वाेच्च न्यायालय का निर्णय काशी, मथुरा, ‘वक्फ कानून’ एवं ‘प्लेसेस ऑफ वर्शिप एक्ट’ का केंद्रबिंदु है । सर्वाेच्च न्यायालय ने ११६ एवं ११७ इन सूत्रों में कहा है, ‘ऐतिहासिक दृष्टि से मंदिर होगा और उसे तोडा गया हो, तो वह मंदिर बनाने का संकल्प अभेद्य है ।’

मथुरा स्थित ईदगाह मस्जिद को ‘श्रीकृष्णजन्मभूमि’ घोषित करने की मांग करने वाली याचिका पर इलाहाबाद उच्च न्यायालय पुन: सुनवाई करेगा !

वर्ष २०२१ में न्यायालय ने याचिका नकार दी थी !

अयोध्या और काशी के बाद अब मथुरा भी आवश्यक ! – भाजपा सांसद हेमामालिनी

वहां एक मंदिर पहले से है और उसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विकसित किए ‘काशी विश्वनाथ धाम’ के समान नया रुप दिया जा सकता है, ऐसा विधान अभिनेत्री और भाजपा सांसद हेमामालिनी ने यहां पत्रकारों से बोलते समय किया ।

भगवान कृष्ण की जन्मस्थली पर स्थित ईदगाह मस्जिद में नमाज पठन पर रोक लगाएं !

श्रीकृष्ण जन्मभूमि मुक्ति आंदोलन समिति के अध्यक्ष द्वारा मथुरा न्यायालय में याचिका !

कृष्ण के जन्मस्थान पर आरती की अनुमति अस्वीकार !

हिन्दुओं को लगता है, कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार होने के कारण, हिन्दुओं को यह अनुमति मिलनी चाहिए !