(कहते हैं) ‘द कश्मीर फाईल्स’ चलचित्र के द्वारा गंगा – जमुनी संस्कृति को तोडने का काम हो रहा है !

इस देश में तथाकथित गंगा- जमुनी संस्कृति के नाम पर अभी तक हिन्दुओं पर अत्याचार करने का काम हुआ और आज भी हो रहा है । हिन्दुओं को धर्माधों की ऐसी फंसाने वाली बातें समझकर, उन्हें सत्य गंभीरता से समझाना चाहिए !

(कहते हैं) ‘यह कहा जा रहा है कि, राष्ट्रवादी होने के लिए हिन्दू होना अनिवार्य है !’

भारत में रहते हुए, कश्यप ने ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ कहने वालों के संबंध में बोलने के लिए कभी अपना मुंह नहीं खोला । भारतीय जनता को इसी से पता चलता है कि, कौन राष्ट्रवादी है और कौन देशद्रोही !

राजस्थान में अध्यापिका में छात्रों में वितरित हिन्दूद्वेषी पुस्तक ‘हिन्दुइज्म : धर्म या कलंक’ !

पुस्तक में हिन्दुओं की देवताओं की घिनौनी भाषा में आलोचना जांच के आदेश राजस्थान में हिन्दूविरोधी कांग्रेस की सरकार होने के कारण क्या ऐसी हिन्दूद्वेषी अध्यापिका की जांच होकर उसे दंड मिलेगा ?, यह प्रश्न ही है ! – संपादक ऐसी अध्यापिकाएं छात्रों के सामने कौनसा आदर्श रखेंगी ? – संपादक      भीलवाडा (राजस्थान) … Read more

गोल्डबर्ग का अपराध !

अमेरिकी समाज पर अभिव्यक्ति स्वतंत्रता एवं व्यक्ति स्वतंत्रता की बहुत दृढ पकड होते हुए भी गोल्डबर्ग के प्रसंग में कोई भी उनका पक्ष लेने नहीं आया । ऐसा क्यों हुआ ? ‘ज्यू का वंशविच्छेद, धार्मिक नहीं था, अपितु वांशिक था । इतना भी गोल्डबर्ग को कैसे पता नहीं ?’, ऐसा ही सुर अमेरिकी समाज के अनेक लोगों ने आलापा ।

(कहते हैं) ‘मुसलमानों ने कानून हाथ में लिया, तो हिन्दुओं को भागने के लिए जगह नहीं मिलेगी !’ – मौलाना तौकीर रजा का विशैला वक्तव्य

उत्तरप्रदेश में इस प्रकार के विधान मौलाना की ओर से हो रहे हैं, यह देखकर ‘उन्हें कानून का डर नहीं’, यही ध्यान में आता है । ऐसों पर भाजपा सरकार को तत्परता से कार्यवाही कर कारागृह में डालना चाहिए, ऐसा ही हिन्दुओं को लगता है !

(कहते हैं) ‘सनातन धर्म नष्ट होना ही चाहिए !’

तमिलनाडु काँग्रेस के अध्यक्ष के.एस. अलागिरी को हिन्दू विरोधी विधान !

आप हिन्दुओं की हत्या क्यों नहीं करते ? – पाक के पत्रकार से उसके लडके का प्रश्न

विद्यालय में क्या पढाया जाता है, इस पर अब अभिवावकों को ही ध्यान देना पडेगा। पिछले ४०-५० वर्षों से विद्यालयों में ऐसी द्वेषयुक्त शिक्षा दी जा रही है। इस पर कोई भी प्रत्यक्ष विरोध नहीं व्यक्त करता !

हिन्दूद्वेषियों का वैचारिक उच्चाटन !

हिन्दूद्वेषियों द्वारा हिन्दुओं के विरोध में विषवमन करने के उपरांत हिन्दू-संगठन अधिक बलवान होने के लिए अब हिन्दुओं को अपना पद, पक्ष, संप्रदाय, संगठन आदि को एक ओर रखते हैं और हिन्दू-संगठन की व्याप्ति वृद्धिंगत करते हुए हिन्दू राष्ट्र की स्थापना के लिए कटिबद्ध होते हैं !

हिन्दुत्व को ब्राह्मणवादी प्रमाणित कर, उससे संकट होने का हिन्दूद्वेषी वक्ताओं का विषवमन !

वैश्विक स्तर पर हिन्दू-विरोधी षड्यंत्र रचा जा रहा है । इस वैचारिक आतंकवाद का तेजस्वी हिन्दुत्वनिष्ठ विचारों से उत्तर देना हिन्दुओं का धर्मकर्तव्य है !

उत्तर प्रदेश में न केवल मुसलमान, अपितु हिन्दू तालिबानी भी हैं ! – उर्दू कवि मुनव्वर राणा

क्या हिन्दू आतंकवादी होने का एक भी उदाहरण है, मुनव्वर राणा के पास ? इसके विपरीत, मुसलमान आतंकवादी हैं, इसे प्रमाणित करने की भी आवश्यकता नहीं है ! – संपादक