हरिद्वार में चलती गाड़ी में मां और उसकी ६ साल की बेटी के साथ सामूहिक बलात्कार

सरकार को कब पता चलेगा कि ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए बलात्कारियों को फांसी की सजा ही एकमात्र रास्ता है ?

उत्तराखंड में समान नागरिक कानून के प्रारूप के लिए समिति का गठन !

उत्तराखंड राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विधानसभा चुनाव के समय राज्य में समान नागरिक कानून करने का आश्वासन दिया था ।

चारधाम यात्रा के मार्ग पर पडे कूडे के कारण पर्यावरण को खतरा ! – विशेषज्ञों की चिंता

चारधाम यात्रा के मार्ग पर वर्तमान में सभी ओर प्लास्टिक के झोले, बोतलों सहित कूडे का ढेर दिख रहा है, जो पर्यावरण के लिए अत्यधिक खतरनाक हो सकता है । इस पर पर्यावरण विशेषज्ञों ने चिंता व्यक्त की है ।

भूधंसाव के कारण यमुनोत्री राजमार्ग बंद होने से सहस्रों तीर्थयात्री फंसे !

उत्तराखंड राज्य के उत्तरकाशी जिले में, स्यानाचट्टी एवं रानाचट्टी के मध्य भूधंसाव के कारण यमुनोत्री राजमार्ग २० मई की संध्याकाल से भारी वाहनों के लिए बंद है, जिसके फलस्वरूप सहस्रों तीर्थयात्री यमुनोत्री क्षेत्र में फंसे हैं ।

उत्तराखंड में हिन्दू महापंचायत को प्रशासन से नहीं मिली अनुमति !

उत्तराखंड में भाजपा की सरकार होते हुए भी इसप्रकार अनुमति न मिलना, हिन्दुओं को नहीं अपेक्षित !

भविष्य के १५ वर्ष में अखंड भारत दृश्यमान होगा ! – सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत

हम अहिंसा का सम्मान करते है, परन्तु हाथ में लाठी लेकर ही अहिंसा का सम्मान किया जाएगा ! – सरसंघचालक

हल्द्वानी (उत्तराखंड) – यहां राष्ट्रध्वज से साइकिल स्वच्छ करनेवाले रफीक को बंदी बनाया !

राष्ट्रध्वज को जलाकर, फाडकर अथवा किसी अन्य प्रकार से उसका अनादर करनेवाले धर्मांध ही होते हैं, यह एक कडवा सत्य है । राष्ट्रप्रेमियों को लगता है कि ऐसी राष्ट्रद्रोही विकृति के विरुद्ध समय पर ही कठोर कार्रवाई करनी चाहिए !

तनावमुक्ति के लिए बाह्य साधना के साथ-साथ आंतरिक साधना करना आवश्यक ! – सद्गुरु डॉ. चारुदत्त पिंगळेजी, राष्ट्रीय मार्गदर्शक, हिन्दू जनजागृति समिति

उधम सिंहनगर के रुद्रपुर स्थित उत्तराखंड पुलिस की ४६ वीं बटालियन के अधिकारी एवं कर्मचारियों के लिए ‘सुखी जीवन हेतु तनावमुक्ति’ विषय पर एक कार्यशाला का आयोजन किया गया था । इस कार्यशाला को संबोधित करते समय सद्गुरु डॉ. पिंगळेजी बोल रहे थे ।

ऋषिकेश के चिदानंद मुनि के आश्रम में मुसलमानों द्वारा नमाज !

आश्रम में नमाजपठन की अनुमति देनेवाले चिदानंद मुनि कोने चिंतन करना चाहिए, कि ‘क्या हिन्दू मस्जिद अथवा मदरेसा में आरती कर सकते हैं ?’

उत्तराखंड में समान नागरी कानून कार्यान्वित करेंगे !- पुश्कर सिंह धामी, मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री धामी का स्तुत्य निर्णय ! भाजपा शासित सभी राज्य यह निर्णय लें, सारे हिन्दुओं ऐसी की अपेक्षा है ।