तीर्थहल्ली (कर्नाटक) में गोमांस का अवैध परिवहन करने वालों को हिरासत

कर्नाटक में गोहत्या बंदी कानून होते हुए भी गोमांस का परिवहन होता ही कैसे है ? ‘कसाइयों को कानून का डर नहीं कि पुलिस की ओर से कानून का प्रामाणिकता से प्रयोग नहीं होता ?’ इसकी जांच राज्य की भाजपा सरकार को करनी चाहिए !

(कहते हैं) ‘लोगों को गोमांस खाने के लिए प्रोत्साहित करने से यह भ्रांति दूर हो जाएगी कि भाजपा गोहत्या पर प्रतिबंध लगा रही है !’

मेघालय के भाजपा सरकार के पशुपालन मंत्री सनबोर शुलाई का गाय-विरोधी वक्तव्य  !

मंदिर, मठ आदि स्थलों से ५ कि.मी. के परिसर में गोमांस के क्रय-विक्रय पर प्रतिबंध होगा !

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा की सरकार द्वारा विधानसभा में एक नया ‘गोधन संरक्षण विधेयक’ प्रस्तुत किया गया है ।