गुरुग्राम (हरियाणा) में २२ किलोमीटर पीछा कर गोतस्करों को नियंत्रण में लिया गया

यहां गोरक्षक तथा पुलिस ने २२ किलोमीटर तक पीछा कर ट्रक द्वारा गोवंशियों की तस्करी करनेवाले ६ गोतस्करों को नियंत्रण में लिया । पीछा होते समय गोतस्करों ने चलते ट्रक से ७ गायों को मार्ग में फेंक दिया ।

गोवंशियों को लेजाने वाले तीन धर्मांधों को हिरासत

ऐसे मामले रोकने के लिए देश स्तर पर गोवंश हत्याबंदी कानून लागू करना आवश्यक है । केंद्र सरकार इस हेतु कदम उठाएगी क्या ?

असम की बांग्लादेश सीमा पर गोवंश की तस्करी करनेवालों द्वारा सीमा सुरक्षा बल के सैनिकों पर आक्रमण

गोवंश की तस्करी करनेवाले कल तक गोरक्षक और पुलिस पर आक्रमण करते थे, अब वे सैनिकों पर भी आक्रमण करने का साहस कर रहे हैं । यह देखते हुए ऐसे लोगों को फांसी का ही दंड देने का कानून बनाना आवश्यक है !

असम में गोतस्करों की संपत्ति जप्त करने का विधेयक पारित !

गोहत्या और गोतस्करी के संबंध में केंद्र सरकार ने कठोर कानून बनाया, तो देश के राज्यों को अलग-अलग कानून बनाने की आवश्यकता नहीं होगी ! केंद्र सरकार को ऐसा कानून शीघ्रातिशीघ्र बनाना चाहिए, ऐसा ही हिन्दुओं को लगता है !

हिमंत बिस्व सरमा की हिम्मत !

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा के अनुसार पुलिस को अधिकार मिले हैं कि वे संदिग्ध गोतस्करों में घर में प्रवेश कर खोज करने और गोतस्कर द्वारा पिछले ६ वर्षाें में अवैध पशु व्यापार से प्राप्त संपत्ति जप्त कर सकते हैं ।

अररिया (बिहार) के गांव में, गोवंश चुरानेवालों में से एक व्यक्ति की मारपीट में मृत्यु !

गोवंश चुरानेवालों के पास बंदूक जैसे शस्त्र होने से ही ऐसे अपराधों की गहराई ध्यान में आती है। क्या, इन चोरीयों के पीछे गोहत्या करनेवालों का कोई गिरोह कार्यरत है ? यह देखकर उन पर कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। राष्ट्रीय स्तर पर ही गोहत्या बंदी का कठोर कानून बनना चाहिए, ऐसा हिन्दुओं को लगता है !

भरतपुर (राजस्थान) में धर्मांध गोतस्करों द्वारा की गई गोलीबारी में दो पुलिसकर्मी घायल

ध्यान दें कि, राजस्थान में कांग्रेस की सरकार होने के कारण धर्मांध गोतस्कर पुलिस पर गोलीबारी करने का साहस कर पाते हैं  !

हरियाणा शासन की ओर से गोहत्या और गोतस्करी रोकने के लिए विशेष गोरक्षा कार्य दल की स्थापना 

विशेष गोरक्षा कार्य दल की स्थापना करना एक अच्छा निर्णय है; लेकिन दल की ओर से प्रामाणिकता से कार्य होना चाहिए, इस ओर सरकार को ध्यान देना चाहिए, ऐसा हिंदुओं को लगता है !