लेखाजोखा दो !

बहुत कुछ बिनामूल्य देने का लालच देकर शासन स्थापित हुआ, तो भी उसे चलाने के लिए आवश्यक नीति ‘आप’ के पास नहीं दिखी, यही सत्य है ! वैसे देखा जाए तो राजनीति और भ्रष्टाचार एक ही सिक्के के २ पहलू बन गए हैं ।

बनावटी (नकली) मुठभेड में प्रधान मंत्री मोदी को फंसाने हेतु सीबीआई का मुझपर दबाव था !

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का दावा !

अधिकारी ने कार्यालय की चौथी मंजिल से छलांग मारकर की आत्महत्या !

केंद्रीय अन्वेषण विभाग द्वारा (सीबीआई ने) ५ लाख रुपयों की रिश्वत लेते हुए पकड़े गए केंद्रीय अधिकारी जवरीमल बिश्‍नोई (आयु ४४ वर्ष) ने की आत्महत्या । बिश्‍नोई विदेश व्यापार विभाग में सहायक संचालक थे। 

सोनिया गांधी के नजदीकी हर्ष मंदर की संस्था की सीबीआई जांच होगी

तथाकथित सामाजिक कार्यकर्ता और सच्चर आयोग के पूर्व सदस्य हर्ष मंदर की ‘अमन बिरादरी’ इस संस्था के विरोध में सी.बी.आई. जांच करने का आदेश केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दिया है ।

लालूप्रसाद यादव, राबडीदेवी आदि के १५ ठिकानों पर ‘ईडी’ की छापेमारी

जब लालूप्रसाद यादव रेलमंत्री थे, तब उन्होंने भूमि के बदले नोकरी देने का घोटाला किया था, यह उन पर आरोप है ।

‘इस्रो’ के वैज्ञानिक नंबी नारायणन पर गुप्तचरी करने के आरोप झूठे हैं !

केंद्र सरकार को, नंबी नारायणन को मिथ्या आरोपों में फंसाने वालों को ढूंढ़ने का प्रयत्न करना चाहिए और उनके विरुद्ध देशद्रोह का प्रकरण प्रविष्ट कर उन्हें मृत्यु दंड दिलाने का प्रयत्न करना चाहिए !

कांग्रेस के शासनकाल में ६० प्रतिशत और भाजपा के शासनकाल में ९५ प्रतिशत विरोधी पक्ष के नेताओं की जांच !

पिछले १८ वर्षों में कांग्रेस और भाजपा की सरकारों के समय लगभग २०० नेताओं पर सीबीआई ने अपराध प्रविष्ट किए, छापे मारे, उन्हे बंदी बनाया अथवा उनकी जांच की , जिसमें से ८० प्रतिशत नेता विपक्षी पक्षों के थे ।

महंत नरेंद्र गिरी के कक्ष से मिले ३ करोड रुपये नकद और ५० किलो सोना !

नरेंद्र गिरी की मृत्यु के एक वर्ष पश्चात सीबीआई ने उस कक्ष की जांच की जहां उनका शव मिला था । अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि महंत नरेंद्र गिरी की मृत्यु का कारण क्या था ।

एक ही समय पर आयकर विभाग की ओर से १०० स्थानों पर छापेमारी !

आयकर विभाग ने ७ सितंबर को देश के १०० स्थानों पर छापेमारी की । ये छापे मद्य घोटाला, दोपहर का भोजन, राजनीतिक निधि तथा कर चोरी से संबंधित हैं ।