Acharya Pramod Krishnam : सनातन धर्म को नष्ट करना, यही कांग्रेस का स्वप्न ! – आचार्य प्रमोद कृष्णम्, कांग्रेस के भूतपूर्व नेता

पार्टी के लिए अनेक दशकों से सर्वस्व का त्याग किए एक आचार्य का कांग्रेस संबंधी यह वक्तव्य है । इससे कांग्रेस का हिन्दू द्वेषी रूप स्पष्टरूप से उजागर होता है !

(और इनकी सुनिए….) ‘ दलित इसलिए अनुत्तीर्ण होते हैं क्योंकि प्रश्न पत्र बनाने वाले ऊंची जाति के हैं!’ – राहुल गांधी

पहले देश के मुसलमानों एवं अब अनुसूचित जाति के हिंदुओं को अपने पक्ष में करने की राहुल गांधी का ये प्रयत्न लज्जास्पद है। भारतवासियों, ऐसी कांग्रेस को सदा के लिए घर बैठाने का प्रण करें !

कांग्रेस की सत्ता आने पर शाहबानो प्रकरण के समान श्रीराममंदिर का भी निर्णय पलट देंगे ! – राहुल गांधी

राहुल गांधी द्वारा पहले एक बैठक में वक्तव्य किए जाने का कांग्रेस के पूर्व नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम का दावा !

मणिपुर में मानवाधिकारों का उल्लंघन हुआ ! – अमेरिका का भारतद्वेषी विवरण (रिपोर्ट)

भारत के अंतर्गत सूत्रों में टांग अडानेवाली अमेरिका को ‘जैसे को तैसा’ उत्तर देने की आवश्यकता है । इस हेतु भारत को सदैव मानवाधिकारों का हनन करनेवाली अमेरिका का सच्चा चेहरा उजागर करनेवाला विवरण नित्य प्रसारित करना चाहिए !

Rajnath Singh On POK : पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर पर आक्रमण कर उसे वापस लेने की आवश्यकता नहीं, वहां के लोग स्वयं भारत में आएंगे ! – रक्षामंत्री राजनाथ सिंह

अब ये लोग पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर को भारत में विलीन करने की मांग कर रहे हैं, ऐसी जानकारी रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने दी । वे पत्रकारों से बात कर रहे थे ।

श्रीराम को काल्पनिक कहनेवाली कांग्रेस द्वारा उनकी सीख अंगीकार करने का आवाहन !

देश में कांग्रेस की सरकार थी, तब रामसेतु तोडने की अनुमति मिले, इसलिए कांग्रेस ने प्रभु श्रीरामजी का अस्तित्व ही अस्वीकार कर दिया था ।

Congress Krishna Poster : कानपुर (उत्तर प्रदेश) में कांग्रेस ने लगाए फलक के द्वारा हिन्दुओं के देवताओं का अनादर

कांग्रेस ने अपनी स्थापना से लेकर आज तक हिन्दू धर्म, हिन्दुओं के देवता एवं परंपराओं का भिन्न भिन्न माध्यमों द्वारा अपमान किया है । इस पार्टी का राजनीतिक अस्तित्व अब हिन्दू नष्ट करेंगे !

क्या कांग्रेस सदा बाबर का ही समर्थन करेगी ? – असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा

‘सोनिया गांधी, राहुल गांधी एवं मल्लिकार्जुन खर्गे के साथ ही कांग्रेस के प्रमुख नेताओं को अयोध्याजी के श्री रामलला की प्राणप्रतिष्ठा कार्यक्रम का निमंत्रण था । ऐसा होते हुए भी वे कार्यक्रम में उपस्थित क्यों नहीं हुए ?

SC Dismissed Electoral Bonds : सर्वोच्च न्यायालय द्वारा ‘चुनावी बाँड (इलेक्टोरल बाँडस्) योजना’ निरस्त !

राजनीतिक दलों को अमर्याद धन प्राप्त हो, इसलिए कानून में परिवर्तन करना अनुचित ! – सर्वोच्च न्यायालय