कल्याण (जिला ठाणे) के दुर्गाडी गड ​​क्षेत्र में बकरीद के अवसर पर नमाज़ पठन !

मुसलमानों को वहां प्रवेश देना और उस समय हिंदुओं को मंदिर में प्रवेश न देना,ये प्रशासन की निर्दयता है ! छत्रपति शिवराय के महाराष्ट्र में ऐसा होना हिन्दुओं के लिए शर्मनाक !

वक्फ बोर्ड को १० करोड दे के विधानसभा चुनाव में हिन्दुओं को भी वोट गवाने के इच्छुक है क्या ?

क्या आप उन लोगों को सशक्त बनाने के लिए १० करोड़ दे रहे हैं जिन्होंने लोकसभा चुनाव में आपको वोट नहीं दिया? अभिनेत्री केतकी चितले ने ‘एक्स’ अकाउंट से एक वीडियो प्रसारित किया है

VHP On Waqf Board : वक्फ बोर्ड का फंड निरस्त करो, नहीं तो विधानसभा चुनाव में हिन्दुओं के रोष का सामना करो !

वक्फ बोर्ड को दृढ करने के लिए वर्ष २०२४-२५ में १० करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। इसमें से दो करोड़ रुपये राज्य सरकार ने १० जून को दिये हैं।

Chikalthana StonePelting By Muslims : चिकलथाना में निरंतर दूसरे दिन भी महाआरती के उपरांत कट्टरपंथियों ने हिन्दू युवकों पर पथराव किया !

मुसलमान धर्मांध कट्टरपंथी प्रार्थना का समय बदलने के उपरांत भी पुन: हिन्दुओं पर पत्थर कैसे फेंकते हैं ? क्या धर्मांध कट्टर पंथी  लोग जानबूझकर हिन्दुओं को योजना बना कर त्रास दे रहे हैं ? ऐसा संदेह है ।

अमृत महोत्सव निमित्त प.पू. स्‍वामी गोविंददेव गिरि महाराजजी का मुख्‍यमंत्री एकनाथजी शिंदे के करकमलों से सम्मान

वेदपरंपरा के संरक्षक, विश्वभर में गीता का प्रसार करनेवाले एवं श्रीरामजन्‍मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्‍यास के कोषाध्‍यक्ष प.पू. स्‍वामी गोविंददेव गिरि महाराज के अमृतमहोत्सव निमित्त महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री मा. श्री. एकनाथजी शिंदे के करकमलों से प.पू. स्‍वामी गोविंददेव गिरि महाराजजी का सम्मान किया गया ।

Kolhapur Madrasa Demolished : कोल्हापुर में अवैध मदरसों का निर्माणकार्य हटाना प्रारंभ !

हिन्दुत्ववादी संगठनों की आक्रामक भूमिका का परिणाम !

Halal Certification: उत्तर प्रदेश की भांति महाराष्ट्र में भी हलाल उत्पादों पर प्रतिबंध लगाने की शिवसेना विधायकों की मांग !

मुख्यमंत्री के द्वारा हलाल उत्पादों की जांच के आदेश !

राजस्थान कांग्रेस सरकार के निष्कासित मंत्री राजेंद्र गुढा का शिवसेना में (शिंदे समूह) प्रवेश

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की उपस्थिति में गुढा ने उनके गांव में पार्टी में प्रवेश किया ।

वंशवाद दलों में लोकतंत्र अनुकूल करना आवश्यक !

अजित पवार के विद्रोह के उपरांत राष्ट्र्रवादी कांग्रेस पार्टी भी शिवसेना की भांति दो गुट में बंट गई । जबकि एकनाथ शिंदे ने उनके दल के नेताओं के विरुद्ध विद्रोह कर पार्टी हथिया ली । ऐसे विद्रोह के दो मुख्य कारण हैं । एक : संविधान एवं कानून में स्पष्ट व्यवस्था न होना तथा दूसरा : वंशवाद एवं परिवारवाद की राजनीति ।

राष्ट्रवादी कांग्रेस में विभाजन : अजित पवारसहित ९ नेता सरकार में सम्मिलित !

सरकार में सम्मिलित होते ही अजित पवार को उपमुख्यमंत्रीपद का दायित्व सौंपा गया ।