‘सनातन प्रभात’ नियतकालिक बहुत शीघ्र उपलब्ध होंगे ‘ई-पेपर’ के रूप में !

यह बताते हुए हमें बहुत प्रसन्नता हो रही है कि ‘सनातन प्रभात’ नियतकालिक के ऑनलाइन संस्करण बहुत शीघ्र डिजिटल न्यूजपेपर अर्थात् ‘ई-पेपर’के रूप में प्रकाशित होनेवाले हैं ।

हिन्दू राष्ट्र की स्थापना वर्ष २०२५ तक होगी ! – परात्पर गुरु डॉ. आठवलेजी

आपातकाल भले ही आगे गया हो, तब भी उसका आरंभ कभी भी हो सकता है। कोरोना जैसी महामारी के माध्यम से हमने इसका अनुभव लिया ही है। तीसरे विश्वयुद्ध का आरंभ कभी भी हो सकता है। इसलिए साधक आपातकाल की तैयारी जारी रखें !’ – परात्पर गुरु डॉ. आठवले

सनातन के अनमोल ग्रंथ अब ‘ई-बुक’ स्वरूप में ‘अमेजन किंडल एप’ पर उपलब्ध !

सनातन के ग्रंथ अब ‘ई-बुक’ स्वरूप में ‘अमेजन किंडल एप’ पर उपलब्ध हैं । गुरुपूर्णिमा के शुभावसर से सनातन का हिन्दी ग्रंथ ‘त्योहार मनाने की उचित पद्धतियां एवं अध्यात्मशास्त्र’ ग्रंथ का ई-बुक अमेजन किंडल एप के माध्यम से खरीदने की सुविधा दी गई है ।

विश्वयुद्ध, भूकंप आदि आपदाओं का प्रत्यक्ष सामना कैसे करें ?

पिछले अनेक वर्षाें से सनातन संस्था बता रही है कि आपातकाल अब देहरी (देहलीज) तक पहुंच गया है और वह कभी भी भीतर प्रवेश कर सकता है । पिछले पूरे वर्ष से चल रहा कोरोना महामारी का संकट आपातकाल की ही एक छोटी-सी झलक है ।