सनातन के ‘ज्ञानशक्ति प्रसार अभियान’ को कोलकाता के पू. संत स्वामी श्री कल्याणेश्वरजी महाराज के आशीर्वाद

स्वामीजी को सनातन के ग्रंथ भेंट किए गए । उन्होंने उनमें से कुछ ग्रंथ उत्सुकता से पढे और वे कहने लगे, ‘‘मैं बहुत रुचि से सनातन के ग्रंथ और पाक्षिक ‘सनातन प्रभात’ पढता हूं ।’’ इससे पूर्व भी विविध कार्याें के लिए स्वामीजी के आशीर्वाद मिले हैं ।

बंगाल के ८ जिलों के अवैध मंदिर और अन्य धार्मिक स्थलों को गिराने का तृणमूल काँग्रेस सरकार का आदेश

इन आदेशों का पालन करते समय प्रशासन सबसे पहले हिन्दुओं के मंदिर गिराएगा । उस समय हिन्दू विरोध नहीं करेंगे; लेकिन जिस समय अन्य धर्मियों के प्रार्थना स्थल गिराने का प्रयास किया जाएगा, तब ‘पुलिस संरक्षण नहीं’, ऐसा कहा जाएगा ! अथवा ‘कार्यवाही के समय प्रशासन पर आक्रमण होगा और कार्यवाही रोकी जाएगी’, यह ध्यान में लें !

कोलकाता में नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन के कार्यक्रम में तृणमूल कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच झडप !

यह स्पष्ट होते हुए, कि बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के राज्य में कानून-व्यवस्था नहीं है, तथापि केंद्र सरकार इस संबंध में कुछ नहीं कर रही है ; हिन्दुओं को ऐसी अपेक्षा नहीं है !

भारतीय मुद्रा पर नेताजी सुभाषचंद्र बोस का छायाचित्र छापें ! – कोलकाता उच्च न्यायालय में याचिका प्रविष्ट

भारतीय मुद्रा पर नेताजी सुभाषचंद्र बोस का छायाचित्र छापने की मांग करने वाली याचिका कोलकाता उच्च न्यायालय में प्रविष्ट की गई है । इस पर सुनवाई करते समय न्यायालय ने केंद्र सरकार को इस विषय में उत्तर देने के लिए नोटिस जारी किया है । इस पर २१ फरवरी २०२२ के दिन अगली सुनवाई होने वाली है ।

जलपाईगुडी (बंगाल) में, मस्जिदों पर ध्वनि-विस्तारक यंत्र का प्रयोग बंद कर दिया गया है, ताकि बच्चों को पढाई करने में कठिनाई न हो ।

पूरे भारत में छात्र पढते हैं, लाखों रोगी तथा ज्येष्ठ नागरिक रहते हैं, अत: उनके पक्ष में ऐसा निर्णय पूरे देश के लिए लिया जाना चाहिए !

बंगाल की बांग्लादेश सीमा पर घुसपैठ करनेवाले गोतस्करों का सैनिकों पर लोहे की सलाखों से आक्रमण

सरकार को घुसपैठी तस्करों द्वारा सैनिकों पर आक्रमण करने से पूर्व ही अर्थात दिखते ही उन पर गोलियां दागने का आदेश देना चाहिए !

पटाखों पर प्रतिबंध लगाने के लिए कोलकाता उच्च न्यायालय में पुन: याचिका प्रविष्ट करेंगे – चित्रपट निर्मित्री रोशनी अली

हिन्दुओं के त्योहारों पर पर्यावरण के नाम पर न्यायालय में याचिका प्रविष्ट करने वाले धर्मांध अपने धर्म के उत्सव के समय होने वाले प्रदूषण के समय चुप क्यों बैठते हैं ? इससे इनका हिन्दू द्वेष ही स्पष्ट होता है, यह धर्मनिरपेक्षता का गुणगान करने वाले हिन्दुओं को कब समझ में आएगा ?

जाधवपुर, पश्चिम बंगाल की श्री श्री अर्चनापुरी मां ने किया देहत्याग !

श्री ठाकुर के दिव्य मार्गदर्शन से प्रेरित, श्री अर्चना पुरी मां ने अकेले ही ४००० से अधिक गीतों का भंडार रचा था, जिसमें कविता, निबंध, नाटक, नृत्य-नाटक, कहानियां, गीतात्मक नाटक, गीत, मां शारदा एवं अन्य संतों की जीवनी आदि का एक समृद्ध संग्रह बनाया ।

(कहते हैं) ‘बांग्लादेश में कुरान का अपमान करने वालों का सिर काट देना चाहिए !’

ध्यान रखें, कि बंगाल की तृणमूल कांग्रेस सरकार ऐसे मौलानाओं के विरुद्ध कभी भी कार्यवाही नहीं करेगी ! बंगाल दूसरा बांग्लादेश बन गया है, इसलिए, कल वहां भी हिन्दुओं एवं उनके मंदिरों पर आक्रमण आरंभ हो गए, तो इसमें कोई आश्चर्य नहीं होना चाहिए !