प्रत्येक जीव पर असीमित निरपेक्ष प्रेम करनेवाले परात्पर गुरु डॉ. आठवलेजी

गुरुदेवजी, आप हमारे जीवन में आए’, इससे बडा कोई सौभाग्य नहीं है ! आपके सुकोमल श्रीचरणों में कोटि-कोटि कृतज्ञता !

परात्पर गुरु डॉ. आठवलेजी के ओजस्वी विचार

विश्वयुद्ध से रक्षा होने हेतु साधना आवश्यक है !

मुसलमान युवक ने आई.ए.एस. अधिकारी की लडकी को प्रेमजाल में फंसाकर उससे किया विवाह !

आई.ए.एस. अधिकारी की लडकी को भी प्रेमजाल में फंसाकर उससे बलपूर्वक विवाह करने तक लव जिहादियों की मजाल पहुंच गई है । इस कारण ही अब लव जिहाद विरोधी कानून में अब कठोर दंड का प्रावधान आवश्यक हो गया है !

इस्लाम त्यागनेवाले व्यक्ति की कट्टरपंथियों की भीड़ द्वारा मारपीट

लाखों हिंदुओं ने अब तक अपना धर्म त्याग कर ईसाई अथवा अन्य धर्म स्वीकार किया ; लेकिन कभी हिंदुओं ने उन्हें पीटा हो ऐसा नहीं सुना; किंतु इस्लाम का त्याग करने पर मारपीट की जाती है, इस विषय में धर्मनिरपेक्षतावादियो  को बोलना चाहिए !

उत्तर प्रदेश के धार्मिक स्थलों पर लगे १ लाख भोंपू उतारे गए ! – योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जानकारी दी है कि ‘‘उत्तर प्रदेश राज्य के धार्मिक स्थलों पर लगे १ लाख भोंपू हटाए गए हैं’’ । उन्होंने कहा कि ‘‘इतनी बडी संख्या में भोंपू उतारने से राज्य में कोलाहल अल्प हो गया है ।

गंगा नदी कभी नहीं सूखेगी ! – शोध के निष्कर्ष

गंगा के उद्गम स्थल, गंगोत्री के बर्फ से ढके पहाड अगले ३,००० वर्षों तक रहेंगे ; क्योंकि, यहां प्रत्येक वर्ष हिमपात होता है ।

भारतीय युवकों का सेना के प्रति आकर्षण !

सेना में भर्ती होने के लिए उसके रात में दौडने का अभ्यास करनेवाला वीडियो सामाजिक माध्यमों पर बडी मात्रा में प्रसारित हो रहा है । भारतीय युवकों में सेना के प्रति आकर्षण है । अनेक युवकों को सेना में भर्ती होने की इच्छा होती है ।

‘मीडिया ट्रायल’ और उसके समाज, पुलिस और न्यायतंत्र पर होनेवाले दुष्परिणाम !

माध्यम (पत्रकारिता) तो लोकतंत्र के ४ मूलभूत स्तंभों में से एक हैं । लोकतंत्र को बनाए रखने में इन माध्यमों का अनन्यसाधारण महत्त्व है । लोगों के मत बनाना, मतों को बदलना, किसी विशिष्ट विषय पर चर्चा करवाना और उस विषय को समाज के सामने लाना; इन में ये माध्यम महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं ।

रासायनिक अथवा जैविक कृषि नहीं, अपितु प्राकृतिक कृषि अपनाइए !

भूमि में फॉस्फरस, यशद (जिंक), पोटैश, तांबे समान अनेक खनिज घटक होते हैं; परंतु ये घटक स्वयं ही वनस्पति को अन्न के रूप में उपलब्ध नहीं होते । केंचुए, इसके साथ ही भूमि के सूक्ष्म जीवाणु उन घटकों से अन्न निर्माण करते हैं और वनस्पतियों की जडों को देते हैं ।

हिन्दू जनजागृति समिति के कार्यकर्ता के नाम से मिलनेवाले और संदेहजनक आचरणवाले व्यक्ति से सतर्क रहें और समिति को तुरंत उसकी जानकारी दें !

हिन्दू जनजागृति समिति सदैव ही संवैधानिक मार्ग से कार्य करती है, यह बात स्थानीय संगठन के कार्यकर्ताओं को ज्ञात होने से कथित हिन्दुत्वनिष्ठ व्यक्ति आक्रामक पद्धति से बोल रहा था, यह देखकर स्थानीय कार्यकर्ताओं को थोडा संदेहजनक लगा ।