धर्माधिष्ठित हिन्दू राष्ट्र के कानून !

परात्पर गुरु डॉ. आठवलेजी के ओजस्वी विचार

परात्पर गुरु डॉक्टर आठवले

‘हिन्दू राष्ट्र के सभी कानून धर्म पर आधारित होंगे । इससे उनमें परिवर्तन नहीं करना पड़ेगा और उनका पालन करने पर अपराध भी नहीं होंगे तथा साधना भी होगी ।’

– (परात्पर गुरु) डॉक्टर आठवले