रांची (झारखंड) में विश्व हिन्दू परिषद के नेता की गोली मारकर हत्या

अन्य समय में आधुनिकतावादी और धर्मनिरपेक्षतावादियों की हत्या होने पर अत्यधिक शोर करने वाले संगठन और पुरस्कार वापस करने वाला समूह हिन्दुत्वनिष्ठों की हत्या होने पर एक भी शब्द निकालते नहीं, यह ध्यान दें !

देहली की ‘चंगाई सभाओं’ द्वारा हिन्दुओं का धर्मांतरण किए जाने के विरोध में हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनों द्वारा प्रदर्शन !

आंदोलन में विश्व हिन्दू परिषद, बजरंग दल, हिन्दू जनजागृति समिति इत्यादि हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनों के कार्यकर्ता, साथ ही स्थानीय हिन्दू विशाल संख्या में सहभागी हुए थे । इनमें महिलाएं भी सम्मिलित थीं ।

पंजाब में हिन्दू और सिक्खों के विरोध के कारण राज्य के मुख्यमंत्रक्ष ने ईसाई मिशनरियों की ‘चंगाई सभा’ में जाना टाल दिया !

चंगाई सभा के मुख्य आयोजक पादरी पर हत्या और बलात्कार का आरोप

हिन्दू मंदिरों को सरकारी नियंत्रण से मुक्त करने के लिए कानून लाया जाए ! – विहिप की केंद्र एवं सभी राज्य सरकारों से मांग

धर्मांतरण विरोधी कानून की भी मांग !

केंद्र सरकार बांग्लादेश सरकार पर दबाव बढ़ाए ! – विश्व हिन्दू परिषद

बांग्लादेश में हिन्दुओं पर आक्रमण के प्रकरण !

जमशेदपुर (झारखंड) में, भूतबाधा होने के संदेह में मौलवी द्वारा बंधक युवती की विहिप द्वारा मुक्ति !

विश्व हिन्दू परिषद ने १९ सितंबर २०२१ को यहां के इमामवाडा से एक हिन्दू युवती को मुक्त किया, जिसे लोहे की जंजीर से बांध कर रखा गया था ।

धारवाड (कर्नाटक) में श्रीराम सेना की ओर से जिलाधीश कार्यालय के सामने आंदोलन !

कोरोना नियम के नाम पर ‘सार्वजनिक गणेशोत्सव’ पर लगाए प्रतिबंधों का विरोध !

तीर्थहल्ली (कर्नाटक) में गोमांस का अवैध परिवहन करने वालों को हिरासत

कर्नाटक में गोहत्या बंदी कानून होते हुए भी गोमांस का परिवहन होता ही कैसे है ? ‘कसाइयों को कानून का डर नहीं कि पुलिस की ओर से कानून का प्रामाणिकता से प्रयोग नहीं होता ?’ इसकी जांच राज्य की भाजपा सरकार को करनी चाहिए !

सुपौल (बिहार) में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने शिवलिंग पर पैर रखकर उसका छायाचित्र किया प्रसारित ।

हिन्दुओं एवं उनके संगठनों को मांग करनी चाहिए कि, हिन्दू द्वेष का पीलिया हुए भीम आर्मी पर केंद्र सरकार को प्रतिबंध लगाना चाहिए  !

वापी (गुजरात) के २१ धर्मांतरित ईसाई परिवारों ने हिन्दू धर्म स्वीकारा !

लालच दिखाने के कारण ईसाई धर्म को स्वीकार किया था !