चीन के दूत !

‘वर्षा चीन में होने पर भी भारत के साम्यवादी यहां छाता तान देते हैं ।’ चीन के विरुद्ध कुछ होने पर भारत के साम्यवादी उसका विरोध करते हैं । इससे स्पष्ट होता है कि भारतीय साम्यवादियों की नाल चीन से जुडी है ।

आत्मनिर्भर पंखों की ऊंची उडान !

कोरोना से उत्पन्न विकट आर्थिक संकटों का सामना करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत को आत्मनिर्भर बनाने का जो मार्ग चुना है, वह निश्‍चित ही प्रशंसनीय है ।