गांजा युक्त दवाई द्वारा कोरोना से पीडित रोगियों के प्राण बचाए जा सकते हैं !- कनाडा के शोधकर्ताओं का दावा

कनाडा में यूनिवर्सिटी ऑफ लेथब्रिज ने दावा किया है कि, गांजा के उपयोग से कोरोना के सबसे अधिक जोखिम वाले आयु वर्ग और गंभीर रोगों से पीडित लोगों को बचाया जा सकता है ।

कांग्रेस शासन काल से, अर्थात् १९८० के दशक से, चीन भारतीय क्षेत्र पर अतिक्रमण कर रहा है ! – भाजपा सांसद तापिर गाओ का दावा

चीन १९८० के दशक से भारतीय भू क्षेत्र में नियंत्रण प्राप्त कर रहा है । गांवों को स्थापित करना, सैन्य शिविरों का निर्माण करना, चीन के लिए कोई नई बात नहीं है ।

पाकिस्तान में ‘स्वतंत्र सिंधु देश’ के लिए मोर्चा !

१७ जनवरी को पाकिस्तान के सिंध प्रांत के सान शहर में, एक “स्वतंत्र सिंधु देश ” की मांग को लेकर मोर्चा निकाला गया ।

पाक के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में और एक मंदिर पर आक्रमण होने की संभावना ! – हिंदु नेता का डर

पाक के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में कुछ सप्ताह पूर्व हिंदुओं के एक मंदिर की धर्मांधों द्वारा तोडफोड की गई थी ।

(कहते हैं) ‘मोदी सरकार पूरे एशिया को संघर्ष की खाई में धकेल सकती है !’- पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री, इमरान खान ने कहा है कि, भारत की मोदी सरकार पूरे एशियाई महाद्वीप को संघर्ष में डुबो सकती है ।

वित्तीय कदाचार के आरोप में दो चीनी नागरिक बंदी

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने वित्तीय कदाचार के आरोप में दो चीनी नागरिकों, चार्ली पेंग और कार्टर ली को बंदी बनाया गया है ।

चीन में आइसक्रीम में भी पाया गया कोरोनावायरस !

चीन में आइसक्रीम में भी कोरोना वायरस पाया गया है । इस आइसक्रीम के ३९० डिब्बे बेचे जा चुके हैं और अब खरीददारों का पता लगाया जा रहा है ।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में नेपाल ने भारत की स्थायी सदस्यता का किया समर्थन

नेपाल ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता का समर्थन किया, इसके उपरांत नेपाल में चीनी राजदूत, नेपाल के प्रधान मंत्री केपी शर्मा ओली से मिले और इस प्रसंग पर अपनी अप्रसन्नता व्यक्त की ।

अमेरिका में एक पादरी द्वारा चर्च शिविर में एक बच्चे का उत्पीडन !

वॉशिंगटन (अमेरिका ) – अब यह प्रकाश में आया है कि अमेरिका में एक पादरी, रेव्ह. राफेल वार्नोक द्वारा चलाए जा रहे चर्च के शिविर में, २००२ में, एक १२ वर्षीय लडके को प्रताडित किया गया था । अब बडे हो चुके इस युवा ने एक दैनिक के साथ साक्षात्कार में वार्नोक और उसके चर्च के बारे में बहुत सारी जानकारी प्रकाश में लाई है ।

जर्मनी के एक ईसाई बाल गृह में पादरियों और ननों द्वारा बाल यौन शोषण !

बर्लिन (जर्मनी) – जर्मनी में एक कैथोलिक नन द्वारा चलाए जा रहे बालगृह में अनाथों का यौन शोषण किया जा रहा है, ऐसा वृत्त डेली मेल ने बताया है । ७३ वर्षीय पीडिता के अदालत को इसके बारे में सूचित करने के बाद यह प्रकरण सामने आया है । पीडिता १९६० से १९७० तक एक बालगृह में रही थी । पीडिता की पहचान गुप्त रखी गई है ।