क्या विज्ञान किसी एक क्षेत्र में भी धर्मशास्त्र के आगे है ? –  वास्तुशास्त्र (परिणाम, ज्योतिष, उपाय) 

सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. जयंत आठवलेजी के ओजस्वी विचार

सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. जयंत आठवलेजी

‘सभी क्षेत्रों में ऐसी स्थिति है ।

वास्तुशास्त्र (परिणाम, ज्योतिष, उपाय)

वास्तु के व्यक्ति पर रातदिन परिणाम होते हैं. यह ज्ञात न होने के कारण आधुनिक वास्तुशास्त्रज्ञ केवल हवा, प्रकाश और वास्तु कैसी दिखाई देगी, इसका विचार  करते हैं । इसके विपरीत धर्म में वास्तु के कारण कष्ट न हो एवं उसमें साधना करने हेतु  वातावरण मिले, इसका विचार किया होता है ।ʼ (क्रमश:)

✍️ – सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. जयंत आठवले, संस्थापक संपादक, ‘सनातन प्रभातʼ नियतकालिक